पोस्ट

भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह का अचानक स्वास्थ्य बिगड़ा, भोपाल रेफर

चित्र
छतरपुर। बड़ामलहरा उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह लोधी की अचानक तबियत खराब हो गई। इस दौरान उन्हें गुरूवार की रात दमोह ले जाया गया जहां से शुक्रवार को उन्हें भोपाल रेफर किया गया।
जानकारी के अनुसार गुरूवार को भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह बड़ामलहरा में जनसंपर्क कर रहे थे। देर रात अचानक ही उनकी तबियत खराब हो गई जिन्हें पहले दमोह अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी हालत में सुधार न होने पर उन्हें राजधानी भोपाल रेफर किया गया। सूचना मिली है कि उन्हें फेफड़ों में इंफेक्शन की शिकायत हुई है।

भोपाल में फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन, सीएम शिवराज ने कहा, शांति भंग नहीं होने देंगे

चित्र
भोपाल। इकबाल मैदान में गुरुवार दोपहर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो के विरोध में मुस्लिम समाज के सैकड़ों लोग एकत्रित हुए थे, हाथों में तख्तियां लेकर उन्होंने नारेबाजी की। फ्रांस का राष्ट्रीय ध्वज जलाकर विरोध जताया। इस मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा है कि मध्य प्रदेश शांति का टापू है। इसकी शांति को भंग करने वालों से हम पूरी सख्ती से निपटेंगे। इस मामले में 188 आइपीसी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा, वो चाहे कोई भी हो।
इकबाल मैदान में भोपाल में मध्य क्षेत्र के विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन के दौरान कई लोग मास्क नहीं लगाए थे। सुरक्षित शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं किया गया। भीड़ के कारण पीरगेट, कमला पार्क जाने वाले मार्ग पर ट्रैफिक जाम हो गया था। इससे लोग काफी परेशान हुए। तलैया थाना प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि विधायक आरिफ मसूद सहित करीब 200 अज्ञात लोगों के खिलाफ कोरोना काल में शासन-प्रशासन की गाइडलाइन का उल्लंघन करने का प्रकरण दर्ज कर लिया है।
प्रदर्शन में शहर काजी मुश्ताक अली नदबी, मुस्ती-ए-शहर अबुल कलाम कासम…

उपचुनाव में कांग्रेस-भाजपा का गणित बिगाड़ने में जुटी बहुजन समाज पार्टी

चित्र
भोपाल। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि यूपी में विधान परिषद चुनावों में समाजवादी पार्टी को हराने के लिए उनकी पार्टी बीजेपी से भी हाथ मिला सकती है। स्पष्ट है कि बसपा बीजेपी-विरोधी पार्टियों का खेल खराब करने की रणनीति पर काम कर रही है। मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर हो रहे उपचुनावों में भी मायावती की पार्टी कमोबेश इसी रणनीति पर काम कर रही है। उपचुनावों के लिए बसपा ने जिन सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं, उन पर वे कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए मुसीबत बन सकते हैं। उपचुनाव की 28 में से 16 सीटें ग्वालियर-चंबल क्षेत्र की हैं, जहां पहले से ही बीएसपी का प्रभाव ज्यादा है। 2018 के विधानसभा चुनाव में बसपा को जिन दो सीटों पर जीत मिली थी, वे भी इसी क्षेत्र की हैं। इसके अलावा कई सीटों पर उसके उम्मीदवार दूसरे नंबर पर रहे थे। बसपा ने 28 में से 27 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जो बीजेपी से ज्यादा कांग्रेस की वोटों में सेंधमारी कर सकते हैं।
2018 के विधानसभा चुनाव में ग्वालियर-चंबल संभाग की 15 सीटों पर बसपा को निर्णायक वोट मिले थे। दो सीटों पर उसके प्रत्याशी दूसरे नंबर पर रहे, जबकि 13 सीटों पर बसपा…

नशीली दवाओं की रोकथाम एवं बेहतर समन्वय के लिये राज्य स्तरीय समिति गठित

चित्र
भोपाल। राज्य शासन द्वारा नारकोटिक्स एवं अन्य नशीली दवाओं की रोकथाम एवं बेहतर समन्वय के लिये गृह मंत्रालय, भारत सरकार के आदेश के अनुपालन में राज्यस्तरीय समिति गठित की गई है। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित इस समिति में अपर प्रमुख सचिव/प्रमुख सचिव गृह विभाग, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/ सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, अपर मुख्य सचिव/ प्रमुख सचिव/ सचिव/सामाजिक न्याय, पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय भोपाल, प्रधान अतिरिक्त महानिदेशक/ राजस्व असूचना निदेशालय, उप नारकोटिक्स आयुक्त केन्द्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो मध्यप्रदेश, नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन मध्यप्रदेश और निदेशक राज्य विधि विज्ञान प्रयोगशाला समिति के सदस्य होंगे। उप महानिदेशक, दक्षिण पश्चिम क्षेत्र नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो समिति के कार्यकारी सदस्य होंगे।
समिति उप पुलिस महानिरीक्षक/ पुलिस महानिरीक्षक/ अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक के नेतृत्व वाले प्रत्येक प्रभावित राज्य में मादक पदार्थों के समर्पित विरोधी बल का निर्माण, राज्य के प्रभावित क्षेत्रों में वैकल्पिक विकास कार्यक्रमों को तैयार करना और लागू करना, प्रशिक्षण के स्तर में उन्नय…

31 अक्टूबर को दिलाई जायेगी राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ

चित्र
भोपाल। उप सचिव सामान्य प्रशासन विभाग श्री डी.के. नागेन्द्र ने बताया कि सरदार वल्लभ भाई पटेल पार्क में 31 अक्टूबर, 2020 को प्रात: 11 बजे “राष्ट्रीय एकता दिवस” की शपथ दिलाई जायेगी। इस अवसर पर मंत्रालय, सतपुड़ा एवं विंध्याचल भवन के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहेंगे।

सोशल मीडिया पर वन्य-प्राणी अवयवों की अवैध तस्करी करने वालों का पर्दाफाश

चित्र
भोपाल। ऑपरेशन वाइल्डनेट के अंतर्गत कार्यवाही कर ऑनलाइन प्लेटफार्म यू-ट्यूब के माध्यम से पेंगोलिन व अन्य वन्य-प्राणियों के अवयवों का अवैध व्यापार करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। स्पेशल टॉस्क स्ट्राइक फोर्स (वन्य-प्राणी) एवं टाइगर स्ट्राइक फोर्स इंदौर व सागर द्वारा उज्जैन तथा शिवपुरी में कार्यवाही कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से 2.7 कि.ग्रा. पेंगोलिन स्केल्स व हाथी दाँत के आभूषण 2 नग जप्त कर प्रकरण दर्ज किया गया।
उप वन संरक्षक (वन्य-प्राणी) ने बताया कि प्रदेश में यह प्रथम मामला दर्ज किया गया, जिसमें गिरोह द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफार्म का उपयोग कर यू-ट्यूब के माध्यम से वन्य-प्राणी अंगों की तस्करी प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर की जा रही थी। स्पेशल टॉस्क फोर्स (वन्य-प्राणी) के अंतर्गत गठित फॉरेस्ट सायबर सेल द्वारा प्रकरण की विवेचना करने पर पाया गया कि लिप्त गिरोह द्वारा वन्य-प्राणियों से संबंधित वीडियो बनाकर उसे अपलोड कर अवैध व्यापार किया जा रहा था, जिसमें लोग लालच/अंधविश्वास में आकर भ्रमित होकर इस आपराधिक कृत्य में शामिल होते रहे तथा लगातार ऐसे व्यक्तियों की संख्या भी बढ़ती गई। इस…

बसपा के 7 बागी विधायकों को मायावती ने पार्टी से निकाला

चित्र
लखनऊ। अपनी पार्टी में मचे बवाल के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने राज्यसभा चुनाव से पहले बगावत करने वाले 7 विधायकों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। यही नहीं, मायावती ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि उनकी पार्टी राज्यसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को हराने के लिए भाजपा उम्मीदवार को वोट कर सकती है। सातों विधायकों पर आरोप था कि वे अखिलेश यादव की पार्टी के साथ मिलकर बसपा को तोड़ना चाहते हैं। इस संबंध में मायावती ने विधायक दल के नेता लालजी वर्मा से रिपोर्ट मांगी थी। रिपोर्ट आने के बाद गुरुवार को यह कार्रवाई की गई।
मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि समाजवादी पार्टी के साथ बसपा का गठबंठन एक गलत फैसला था। उन्होंने यह भी कहा कि 1995 गेस्ट हाउस कांड का मुकदमा वापस लेना भी गलती थी। बकौल मायावती, सभी सात विधायकों को निलंबित कर दिया गया है। उनकी सदस्यता रद्द की जाएगी। जिन बागी विधायकों को कार्रवाई की गई है, उनके नाम हैं असलम राइनी ( भिनगा-श्रावस्ती), असलम अली (ढोलाना-हापुड़), मुजतबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद), हाकिम लाल बिंद (हांडिया- प्रयागराज), हरगोविंद भार्…