पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया

इमेज
महाराष्ट्र. चेन्नई से अगवा किए गए नौसैनिक को किडनैपर्स ने महाराष्ट्र के पालघर जिले में जिंदा जला दिया। बुरी तरह झुलसे नौसैनिक ने दम तोड़ दिया। जांच में सामने आया है कि उन्हें छोड़ने के बदले 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी। पालघर पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ किडनैपिंग और मर्डर का केस दर्ज कर लिया है। पालघर के एसपी दत्तात्रेय शिंदे ने बताया कि 27 साल के नेवी सेलर सूरज कुमार दुबे झारखंड के पलामू के रहने वाले थे उनकी पोस्टिंग कोयंबटूर के पास आईएनएस अग्रणी पर थी। 30 जनवरी को वह छुट्टी से लौटे थे इसी दौरान चेन्नई एयरपोर्ट के बाहर रात लगभग 9 बजे 3 लोगों ने उनका अपहरण कर लिया। 3 दिन तक चेन्नई में रखने के बाद किडनैपर उन्हें 1400 किलोमीटर दूर पालघर ले आए और उनके परिवार से 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई। पुलिस का मानना है कि पैसा न मिलने पर बदमाश उन्हें बीते शुक्रवार को पालघर के जंगल में ले गए। वहां उनके हाथ-पैर बांध दिए और पेट्रोल डालकर आग लगा दी। जिस समय बदमाश सूरज को जला रहे थे एक शख्स की उन पर नजर पड़ गई। उसने शोर मचाया तो आरोपी सूरज को छोड़कर भाग गए। उस शख्स ने पुलिस को मामले की जानकार

सीएम घर पर भोजन करने पहुंचे तो कलेक्टर ने मंजूर कर दी बीस हजार की सहायता

इमेज
ग्वालियर । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आज अपनी ग्वालियर यात्रा के दौरान भाजपा से जुड़े नगर निगम सफाई कर्मचारी के घर दोपहर में भोजन पर गए । उनके साथ भाजपा के जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी थे । कलेक्टर ने भी तत्काल जिला रेडक्रॉस से इस बाल्मीकि परिवार को मकान की मरम्मत के लिये बीस हजार की सहायता मंजूर कर चेक भी सीएम के हाथों दिलवा दिया। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को ग्वालियर प्रवास पर आये और कई कार्यक्रमों में शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने दोपहर का भोजन सफाईकर्मी श्री रामसेवक के घर किया। गुड़ी गुढ़ा का नाका नादरिया माता मंदिर के पास रहने वाले श्री रामसेवक नगर निगम में सफाईकर्मी हैं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने श्री रामसेवक के घर पहुंचकर खाना खाया और उनका हालचाल जाना। उन्होंने मकान की मरम्मत के लिए श्री रामसेवक को रेडक्रॉस से 20 हजार रुपये का चैक भी प्रदान किया। इस दौरान रामसेवक के परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद थे। उनकी बेटी और पत्नी ने तिलक लगाकर सभी का स्वागत किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खाने की तारीफ करते हुए

राहुल गांधी बोले- बाढ़ पीड़ितों की सहायता करे सरकार, कांग्रेस कार्यकर्ता राहत कार्य में हाथ बटाएं

इमेज
नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तराखंड के चमोली में हिमखंड टूटने के कारण अचानक आई बाढ़ की स्थिति पर दुख व्यक्त किया और कहा कि राज्य सरकार सभी पीड़ितों को तुरंत सहायता मुहैया कराये और कांग्रेस कार्यकर्ता भी राहत कार्य में हाथ बटाएँ। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘चमोली में ग्लेशियर फटने से बाढ़ त्रासदी बेहद दुखद है। मेरी संवेदनाएँ उत्तराखंड की जनता के साथ हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘राज्य सरकार सभी पीड़ितों को तुरंत सहायता दे। कांग्रेस साथी भी राहत कार्य में हाथ बटाएँ।’’ गौरतलब है कि उत्तराखंड के चमोली जिले में ऋषि गंगा घाटी में रविवार को हिमखंड के टूटने से अलकनंदा और इसकी सहायक नदियों में अचानक विकराल बाढ़ आ गई।

उत्तराखंड में फिर तबाही : ग्लेशियर टूटने से आये सैलाब में बिजली संयंत्र बहा, 150 से ज्यादा की मरने की आशंका

इमेज
चमोली। उत्तराखंड के चमोली जिले की ऋषिगंगा घाटी में ग्लेशियर टूटने से रविवार को अचानक भयंकर बाढ़ आ गई। गढ़वाल क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया गया है। पौड़ी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, हरिद्वार और देहरादून समेत विभिन्न जिलों के प्रभावित होने की आशंका है और उन्हें हाई अलर्ट पर रखा गया है। तपोवन-रेणी में स्थित बिजली संयंत्र पूरी तरह से बह गया है। मौके पर सेना के अलावा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की टीमें उत्तराखंड के बाढ़ प्रभावित इलाकों के लिए रवाना की गई हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि नदी के बहाव में कमी आई है जो राहत की बात है और हालात पर लगातार नजर रखी जा रही है। आइए तस्‍वीरों, वीडियो में देखते हैं कि यहां आपदा कब, कैसे और किस रूप में आई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, सुबह अचानक जोर की आवाज के साथ धौली गंगा का जलस्तर बढ़ता दिखा। पानी तूफान के आकार में आगे बढ़ रहा था और वह अपने रास्ते में आने वाली सभी चीजों को अपने साथ बहाकर ले गया। ग्लेशियर टूटने के बाद, ऋषि गंगा पनबिजली परियोजना में काम करने वाले करीब 150 मजदूरों के लापता होने की आशंका है। त

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया ग्वालियर व्यापार मेले का उद्घाटन

इमेज
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया रहे मौजूद ग्वालियर। श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेला का आज रविवार दिनांक 7 फरवरी 2021 को मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अनौपचारिक रूप से दीप प्रज्जवलित कर उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा के जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी एवं अन्य भाजपा नेता मौजूद रहे।  मेले में व्यापारियों की आशाओं के अनुरूप रोड टैक्स में छूट भी मिलेगी। इस घोषणा से मेले के व्यापारियों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

500 करोड के कार्यो का भूमिपूजन व विभिन्न लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री

इमेज
ग्वालियर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कल 7 फरवरी को ग्वालियर में अतिव्यस्त कार्यक्रम है, वह यहां एक दर्जन से भी अधिक कार्यक्रमों में जनहित व विकास संबंधी कार्यक्रमों का भूमि पूजन -लोकार्पण भी करेंगे। वह दीनदयाल एक्सप्रेस को भी इंदौर के लिये रवाना करेंगे, जिसमें 7 बच्चों के दिल संबंधी ऑपरेशन इंदौर पहुंचने पर प्रस्तावित हैं। उक्त जानकारी आज दोपहर जिला कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने पत्रकारों को चर्चा के दौरान दी। कलेक्टर सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सुबह स्टेट प्लेन से 09:50 पर ग्वालियर आयेंगे, उनके साथ कृषि मंत्री कमल पटेल भी ग्वालियर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तावित है। सभी कार्यक्रम में सांसद द्वय विवेक नारायण शेजवलकर , ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित स्थानीय मंत्री भी भाग लेंगे। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ग्वालियर प्रवास दीनदयाल एक्सप्रेस से 7 बच्चों के दिल संबंधी ऑपरेशन इंदौर में होने हैं। इसके अलावा वह स्मार्ट सिटी की अंतरजिला बसों को हरी झंडी दिखायेंगे।वहीं वह नगर निगम की विकास संबंधी बैठक में शिरकत

ड्यूटी पर तैनात कर्मियों की सुरक्षा के प्रबंध सुनिश्चित हों : मुख्यमंत्री श्री चौहान

इमेज
भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने देवास जिले में वनरक्षक और ग्वालियर में पुलिस निरीक्षक पर अपराधी तत्वों द्वारा हमले की घटना को बेहद दु:खद बताया है। आज सुबह आपात बैठक में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कल देवास और ग्वालियर में वन और पुलिस अमले पर हुई हमले की घटनाओं पर चर्चा कर उच्च अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि दायित्व में संलग्न वन स्टाफ की आवश्यक सुरक्षा के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। इसके लिए गृह, वन, राजस्व आदि विभाग मिलकर संयुक्त प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अवैध उत्खनन करने वाले माफिया को किसी स्थिति में नहीं छोड़ा जाए । प्रदेश में सभी तरह के माफिया पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जाए। बैठक में निर्णय लिया गया कि देवास में हमले में मृत वनरक्षक को शहीद के समकक्ष दर्जा दिया जाएगा। परिवार को सभी आवश्यक सुविधाएँ भी दी जाएंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर में पुलिस निरीक्षक पर हुए हमले के बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त की और अपराधियों के विरुद्ध सख्त कदम उठाने के निर्देश