जमात के प्रमुख मौलाना साद के खिलाफ गैरइदातन हत्या का मामला दर्ज

नई दिल्ली। कोरोनावायरस रूपी महामारी देश में लगातार फैलती जा रही है। इसकी बेतहाशा बढ़ोतरी करने के लिए जिम्मेदार मौलाना मोहम्मद साद खिलाफ अब केंद्र ने कड़ा कदम उठाया है। सरकार ने मौलाना साद के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। दिल्ली में तब्लीगी जमात मरकज मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने मौलाना के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया था, तभी से मौलाना फरार है। केंद्र ने अब मौलाना पर बड़ी कार्रवाई करते हुए गैरइरादतन हत्या की धारा भी लगा दी है। इसके अलावा गायब हुए 2000 जमातियों के खिलाफ भी सरकार द्वारा लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है।
देश में लॉकडाउन लागू होने के बावजूद दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात मरकज में हजारों विदेशी जमातियों को इकट्ठा किया गया था। जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद का इस दौरान एक ऑडियो भी वायरल हुआ था जिसमें उसने जमातियों को जमा होने के लिए भड़काया था। इन जमातियों में विदेश से आए सैंकड़ो जमाती भी शामिल थे। मरकज में हजारों जमातियों की जानकारी मिलने के बाद सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए हजारों जमातियों को सख्ती से बाहर निकाला था। इन जमातियों की जांच कराने पर सैंकड़ों में कोरोना संक्रमण का खुलासा हुआ था। इसके अलावा बड़ी संख्या में जमाती पहले ही देश के अलग-अलग राज्यों में चले गए थे। उन सभी जमातियों को केंद्र सरकार ने सामने आकर जांच कराने के लिए कहा था। दिल्ली पुलिस द्वारा मौलाना साद के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने के बाद गिरफ्तारी के डर से मौलाना फरार है। इस बीच दिल्ली पुलिस द्वारा मौलाना के घर पर दो बार शोकॉज नोटिस भी भेजा गया। जिसमें से एक का जवाब सामने आया। हालांकि साद के खुद Quarantine होने की बात भी सामने आई। केंद्र और राज्य सरकारों की लगातार अपील के बावजूद भी अब तक हजारो जमाती सामने नहीं आए हैं। सरकार ने सभी को सामने आकर कोरोना टेस्ट कराने के लिए कहा था लेकिन सरकार की बात इन जमातियों ने नहीं मानी है। इसके बाद केंद्र ने सख्ती दिखाते हुे सभी के खिलाफ 2000 जमातियों को लुकआउट नोटिस भी जारी कर दिया है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयप्रकाश एवं आदित्य श्रीवास्तव अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के प्रदेश सचिव मनोनीत