केजरीवाल सरकार का आदेश- मजदूरों और छात्रों से नहीं लें किराया

नई दिल्ली। कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान दिल्ली सरकार ने मकान मालिकों से एक महीने के लिए मजदूरों और छात्रों से किराए की मांग नहीं करने के अपने आदेश का सख्ती से पालन करने के लिए कहा है। बता दें कि केजरीवाल सरकार ने 22 अप्रैल को अपने आदेश में कहा कि जिला मजिस्ट्रेट प्रवासी अपने क्षेत्रों में विशेष रूप से जहां प्रवासी श्रमिक और छात्र ज्यादा रहते हों उन इलाकों में जागरुकता अभियान चलाएं। दिल्‍ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि राज्य में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 2248 है इसमें कल 92 केस सामने आए और कल 113 मरीज ठीक हो गए। अभी तक दिल्ली में कोरोना से 724 लोग ठीक हो चुके है जो कि 32% होता है। 2248 में से 48 लोगों की मृत्यु हो चुकी। वहीं, 24 लोग आईसीयू में और 6 लोग वेंटिलेटर पर हैं।
कोरोना के खतरे को देखते हुए दिल्ली में 90 इलाकों को सील किया जा चुका है और हर रोज यह संख्या बढ़ रही है। ऐसे में टेस्टिंग के साथ कंटेनमेंट जोन में व्यवस्था बनाना सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। एरिया सील किए जाने के बाद किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं होती। अधिकारियों का कहना है कि जैसे-जैसे कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ रही है, वैसे-वैसे चुनौती भी बढ़ रही है। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने सभी डीएम और डीसीपी को निर्देश दिए कि वे तय प्रोटोकॉल के मुताबिक कंटेनमेंट जोन, खाद्य वितरण केन्द्रों, रैन बसेरों में उचित प्रबंधन को सुनिश्चित करें।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास