पीएम मोदी कोरोना संकट के बीच बुजुर्गों से बात कर पूछ रहे उनके हालचाल


नई दिल्ली। कोरोना के खिलाफ इस जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी देशवासियों से बुजुर्गों का खास ख्याल रखने को कहा है। पीएम मोदी खुद भी 'परिवार' के बुजुर्गों को फोन कर उनका हालचाल जान रहे हैं। साथ ही उन्हें स्वास्थ्य का ध्यान रखने को कह रहे हैं। गुरुवार को पीएम मोदी ने दिल्ली के पूर्व विधायक ओ. पी. बब्बर को फोन कर उनका हाल चाल जाना। इससे पहले वह यूपी के और गुजरात के पूर्व विधायकों को भी फोन कर चुके हैं। पीएम मोदी ने गुरुवार को दिल्ली के बीजेपी के पूर्व विधायक ओ. पी. बब्बर को फोन किया। 85 साल के बब्बर दिल्ली में तीन बार विधायक रह चुके हैं। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी जी का फोन आया और उन्होंने मेरा हालचाल पूछा। पीएम ने परिवार के बारे में पूछा। पीएम ने कहा कि मैं उन लोगों को फोन कर रहा हूं जिनकी उंगली पकड़कर मैंने सीखा है। ये शब्द अद्भुत थे, वो मुझे छू गए। बब्बर ने कहा कि पीएम जैसे विनम्र शख्स से बात कर मुझे खुशी मिली। मैंने उन्हें बताया कि हम मोदी किट में राशन बांट रहे हैं और इस लॉकडाउन पीरियड में हम जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं। बब्बर ने कहा कि मैंने पीएम से कहा कि मैंने जो कुछ सीखा है, वह संघ से सीखा है जिसके जवाब में पीएम ने कहा कि मैंने भी जो कुछ सीखा है संघ से ही सीखा है। इससे पहले बुधवार को पीएम मोदी ने यूपी के नौरंगिया विधानसभा के पूर्व विधायक नारायणजी से फोन पर बात की। 106 साल के नारायणजी उर्फ भुलई भाई नौरंगिया से जनसंघ के टिकट पर चुनाव लड़े थे। पीएम मोदी ने उनसे कहा कि आपने पूरी एक शताब्दी देख ली है तो सोचा इस संकट के वक्त आपका आशीर्वाद ले लूं।
सोमवार को पीएम मोदी ने गुजरात के पूर्व विधायक रत्नाभाई थम्मर से फोन पर बातचीत की। 99 साल के रत्नाभाई ने अपनी जमा पूंजी से 51 हजार रुपये कोरोना से लड़ी जा रही जंग में योगदान के तौर पर दिए थे। पीएम ने उन्हें इस योगदान के लिए शुक्रिया कहा और उनका हालचाल जाना। पीएम ने देश के नाम संबोधन में देशवासियों से सात संकल्प दिलवाए थे, जिन्हें सप्तपदी कहा था। इनमें सबसे पहला संकल्प है- सब बुर्जुगों का ख्याल रखना। पीएम खुद भी संघ और बीजेपी परिवार के बुजुर्गों को फोन कर उनसे बात कर रहे हैं।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए