प्रशासन ने किया फैक्टरी संचालकों का डर दूर, कहा- किसी को कोराना हुआ तो न फैक्टरी सील होगी और न एफआईआर


ग्वालियर। भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने बीते 23 अप्रैल की शाम मप्र समेत सभी राज्यों के मुख्य सचिव को पत्र लिखकर उद्यमियों में फैल रहे उस डर को दूर करने के निर्देश दिए, जिसमें फैक्टरी के संचालन के दौरान किसी कर्मचारी या मजदूर को कोरोना पॉजिटिव निकलने पर फैक्टरी मालिक-मैनेजर पर एफआईआर करने या फैक्टरी को सील कर देने की बातें फैलाई गईं।
ग्वालियर में भी एमपी आईडीसी और जिला उद्योग केंद्र के अफसर दिनभर समस्त औद्योगिक क्षेत्रों के उद्यमियों से चर्चा कर समझाते रहे कि वे फैक्टरी चालू करें। अगर किसी को कोरोना निकलेगा तो न तो उनके खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज होगी न ही फैक्टरी को सील किया जाएगा। जबकि एक दिन पहले यही अफसर उद्यमियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने और कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर समस्त जिम्मेदारी फैक्टरी मालिक की बता रहे थे। ग्वालियर उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक अरविंद बोहरे ने बताया कि ऐसी कोई शर्त नहीं लगा रहे हैं कि कोरोना निकलने पर फैक्टरी मालिक पर एफआईआर करेंगे या फैक्टरी सील कर देंगे।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए