आईसीएमआर के निर्देश के बाद सभी गर्भवती महिलाओं की होगी सैंपलिंग


ग्वालियर। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन ने जिन क्षेत्रों को हाॅटस्पाट और कंटेनमेंट क्षेत्र की श्रेणी में रखा है, वहां रह रहीं गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी से पांच दिन पहले अस्पताल पहुंचकर सैंपलिंग करानी होगी। इस संबंध में इंडियन काउंसिल आॅफ मेडिकल रिसर्च ने दाे दिन पहले गाइडलाइन जारी की है। इसमें स्पष्ट किया है कि बीमारी के लक्षण नहीं दिखने की स्थिति में भी इन क्षेत्रों से आने वाली सभी गर्भवती महिलाओं के सैंपल लिए जाएंगे। सरकारी अस्पतालों में सैंपल लेने की व्यवस्था की जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की रहेगी, ताकि गर्भवती महिला को सैंपलिंग के लिए किसी अन्य जगह नहीं जाना पड़े। सीएमएचओ डाॅ. एसके वर्मा ने बताया कि रेपिड एंटी बाॅडी टेस्ट किट अब तक ग्वालियर में नहीं आई है। ऐसे में थ्रोट स्वाब के सैंपल लिए जाएंगे।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए