मुरैना में कोरोना से पहिली मौत, ग्वालियर में 15 दिन बाद नही मिला कोई केस

मुरैना। कोरोना से मुरैना जिले में गुरुवार को पहली मौत हुई। मरने वाली 70 साल की महिला है। पिछले सोमवार को वह कोरोना पॉजिटव आई थी। महिला डायबिटिक थी और उसका गाल ब्लेडर का ऑपरेशन हुआ था। प्रशासन ने यह लापरवाही बरती कि हाईरिस्क की महिला होने के बाद उसे होम क्वारंटिन किया गया था। ओल्ड हाउसिंग बोर्ड निवासी महिला को हालत गंभीर होने पर बुधवार रात 10 बजे परिजन अस्पताल लेकर आए। हालत गंभीर देख अस्पताल प्रबंधन ने गुरुवार सुबह उसे ग्वालियर रेफर किया। लेकिन ले जाने से पहले ही महिला ने दम तोड़ दिया।
वहीं ग्वालियर में 15 दिन बाद राहत भरी खबर आई। जब शुक्रवार को कोरोना संकृमित एक भी मरीज नही मिला। हालांकि ग्वालियर चम्बल अंचल में केवल श्योपुर में एक संकृमित मरीज मिला। यहाँ जिला अस्पताल में कार्य कर रही नर्स कोरोना पॉजिटिव निकली है। अब उसके साथ स्टाफ को भी क्वारन्टीन किया गया है।
धार में 6 नए कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। इसमें शहर के काजीवाड़ा के 2 मरीज हैं, ये दोनों मृत वकील के रिश्तेदार हैं। शहर के चौपाटी क्षेत्र में 3 पॉजिटिव मिले हैं जो पूर्व में मिले संक्रमित के नजदीकी हैं। वहीं एक सब्जी बेचने वाली महिला के कारण संक्रमित हुआ है। इन्हें मिलाकर जिले में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 120 हो गई है। इनमे से 12 एक्टिव मरीज हैं। 3 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 105 स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए