कोरोना से देश में अबतक 2410 मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 74 हज़ार पार


नई दिल्ली। कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में भारत अब चीन के करीब पहुंचने लगा है। भारत में इस खतरनाक वायरस से अब तक 74,079 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 2410 लोगों की मौत हो गई है और 24145 लोग ठीक होने में कामयाब हुए हैं।
अकेले महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 24,427 है। आज यहां पर संक्रमण के 1026 नए मामले सामने आए हैं। यहां पर अभी तक 921 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। हालांकि 5125 लोग ठीक भी हुए हैं।
गुजरात, तमिलनाडु और दिल्ली में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है। गुजरात में 8904 कोरोना वायरस संक्रमित मरीज मिले हैं। इनमें से 362 मंगलवार को मिले। राज्य में अब तक इस बीमारी से 537 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां 3246 लोग ठीक भी हुए हैं।
तमिलनाडु में मंगलवार को 716 नए मामले सामने आने के साथ कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या बढ़कर 8718 पर पहुंच गई। राज्य में इस बीमारी से अब तक 61 लोगों की जान गई है और 2051 लोग ठीक हुए हैं।
दिल्ली में भी तेजी से कोरोनावायरस का फैलाव हो रहा है। मंगलवार को यहां पर 406 नए मामले सामने आने के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़कर 7639 पहुंच गई। इनमें से 2512 ठीक हो चुके हैं और 86 की मौत हो चुकी है।
राजस्थान में संक्रमण 4056 लोगों तक पहुंच चुका है जिनमें से 2378 ठीक भी हुए हैं। हालांकि 115 लोगों की मौत हो गई है।
मध्यप्रदेश में लंबे अंतराल के बाद मंगलवार को एक साथ 201 नए संक्रमित मिले। यहां पर कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या बनाकर 3986 हो गई है। मध्यप्रदेश में अब तक 225 लोगों की मौत इस बीमारी से हुई है। राज्य में 1860 मरीज ठीक हो चुके हैं।
पश्चिम बंगाल में मंगलवार को 110 नए मामले सामने आने के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़ कर 2173 हो गई जिनमें से 612 ठीक हो चुके हैं और 198 की मौत हो गई है।
मंगलवार को आंध्र प्रदेश में 33, पंजाब में 37 तेलंगाना में 51, जम्मू कश्मीर में 55, कर्नाटक में 63, बिहार में 81, उड़ीसा में 22, झारखंड में 11 और हरियाणा में 50 नए मामले सामने आए। बाकी राज्यों में इकाई की संख्या में संक्रमित सामने आये हैं।
इस प्रकार देखा जाए तो शीर्ष 11 राज्यों को छोड़कर देश के बाकी राज्यों में कोरोनावायरस का प्रकोप अब उतना नहीं है। इन 11 राज्यों में भी बहुत से राज्यों में कोरोना वायरस नियंत्रित हो रहा है। लेकिन महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और दिल्ली में इसका फैलाव बहुत तेजी से बढ़ रहा है।
इसलिए सरकार को अब इन चार राज्यों को ध्यान में रखते हुए नई रणनीति पर काम करना होगा।
अच्छी बात यह है कि कुछ राज्यों में रिकवरी रेट बहुत अच्छा है। सारे देश के आंकड़े देखें तो 500 से ऊपर संक्रमित मरीजों की संख्या वाले राज्यों में से केरल में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट सबसे अच्छा देखने में आया है।
सरकार धीरे-धीरे बहुत से क्षेत्रों में ढील दे रही है। लेकिन इसका सबसे बड़ा खतरा यह है कि जो क्षेत्र पहले हॉटस्पॉट नहीं थे वह भी हॉटस्पॉट बन सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि मजदूरों के पलायन और उसके बाद के हालात पर गंभीरता से नजर रखने की आवश्यकता है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए