इंदौर में बड़ी कार्रवाई, पांच गाड़‍ियों में नकली गुटखा और बोरियां भरकर मिले नोट

इंदौर। लॉकडाउन के बीच भी गुटखा-पान मसाले की तस्करी का बड़ा मामला इंदौर में पकड़ा गया है। डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआइ) ने छापामार कार्रवाई करते हुए तस्करों को माल के साथ दबोच लिया। पालदा स्थित गोदाम से गुटखा-पान मसाला से लदा ट्रक और चार गाड़ियां पकड़ीं। जांच के दौरान पांच और गोदामों का भी पता चला। इंदौर में ही नकली गुटखा बनाकर बाहरी राज्यों में भेजने के सबूत जांच दल के हाथ लगे हैं। सियागंज में दुकान चलाने वाले पिता-पुत्र गुटखा तस्करी के इस गोरखधंधे को चला रहे थे। इनके ठिकानों से बोरों में भरकर रखी गई नकदी भी बरामद की गई है। नकदी का आंकड़ा तीन करोड़ से ज्यादा बताया जा रहा है। आशंका है लॉकडाउन के दौरान गुटखा तस्करी यह पैसा बनाया गया था।
डीआरआई की इंदौर जोनल यूनिट ने शनिवार को कार्रवाई को अंजाम दिया। सुबह से शुरू हुई कार्रवाई शाम तक जारी थी। गुटखे से भरी गाड़ियों के साथ पालदा क्षेत्र से संजय माटा नामक व्यक्ति को पकड़ा। संजय की निशानदेही पर माणिकबाग रोड खातीवाला टैंक की मल्टी से उसके पिता गुरनोमल माटा और बड़े भाई संदीप माटा को पकड़ा। तीनों की सियागंज में हरिओम ट्रेडर्स नाम से दुकान है। छोटी दुकान की आड़ में पिता-पुत्र नकली गुटखा बनाने व तस्करी करने का बड़ा रैकेट चला रहे थे। लॉकडाउन के दौरान नकली गुटखा पान मसाला बनाकर 10 गुना कीमत पर बेचा। महाराष्ट्र व अन्य राज्यों में भी माल भेज रहे थे, जबकि महाराष्ट्र में गुटखा प्रतिबंधित है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए