शराब से खजाना भरने की तैयारी में प्रदेश सरकार, बड़ाई ड्यूटी

ग्वालियर। कोरोना की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान शराब दुकानें बंद रहने से कारोबारियों को हुए नुकसान की भरपाई का सरकार ने रास्ता निकाल लिया है। अब देसी और विदेशी शराब दस फीसद और महंगी होगी। इसके लिए न्यूनतम फुटकर विक्रय मूल्य में वृद्धि की गई है।
शराब ठेकों की अवधि भी दो माह बढ़ाई गई है। अब ठेका 31 मार्च की जगह 31 मई 2021 को समाप्त होगा। इस सुविधा का लाभ उन्हीं लायसेंसधारियों को मिलेगा, जो यह विकल्प स्वीकार करके आवेदन करेंगे। हालांकि, लिकर एसोसिएशन विकल्प से संतुष्ट नहीं है और सोमवार शाम से दुकानें बंद करेगी।
प्रदेश में तीन हजार से ज्यादा शराब दुकानें हैं। लॉकडाउन के कारण मार्च के अंतिम सप्ताह से करीब दो माह दुकानें बंद रही हैं। इस कारण शराब कारोबारियों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार पर दबाव बनाया जा रहा था।

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा से मिलकर खपत के आधार पर ड्यूटी लिए जाने की मुख्य मांग रखी थी। सरकार इससे तो सहमत नहीं हुई पर विकल्प जरूर दिया है।

इसके तहत देसी शराब का न्यूनतम फुटकर विक्रय मूल्य में 15 की जगह 25 प्रतिशत की वृद्धि कर दी है। इसी तरह विदेशी शराब दुकान के विक्रय मूल्य में 10 की जगह 20 प्रतिशत वृद्धि कर दी है। इसी तरह विकल्प को चुनने वाले ठेकेदारों की ठेका अवधि मार्च की जगह 31 मई 2021 हो जाएगी यानी दो माह अधिक दुकान संचालन का मौका मिलेगा।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए