दिल्ली-मुंबई तो क्या भिंड और दतिया जाने के लिए भी नहीं मिल रही मंजूरी


ग्वालियर। परिजन को लाने या ले जाने के लिए दिल्ली-मुंबई जैसे रेड जोन तो छोड़िए भिंड-दतिया के लिए भी ई-पास नहीं बन पा रहे हैं। शुक्रवार को ई-पास के लिए कलेक्टोरेट में बड़ी संख्या में आवेदक पहुंचे पर मैप आईटी का सर्वर डाउन होने से सभी निराश होकर लोट आए। इनमें से कुछ ने अपर कलेक्टर किशोर कन्याल से भी मुलाकात की और अपनी परेशानी बताई। दूसरी तरफ शहर में ट्रेवल एजेंसी चलाने वाले कुछ लोग अब टैक्सी और ई-पास का ठेका ले रहे हैं। इससे साफ है कि इनकी घुसपैठ प्रशासन में हो चुकी है। कलेक्टोरेट में कुछ ऐसी शिकायतें भी पहुंची हैं कि ठेका ले रहे लोग नकली ई-पास जारी कर रहे हैं। चूंकि सभी 9 चेक पोस्ट पर बार कोड स्केन करने की व्यवस्था नहीं है। इसी कारण नकली पास पकड़ में नहीं आ पा रहे हैं।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास