राहत : दो कोरोना पॉजिटिव स्वस्थ होकर घर पहुंचे


ग्वालियर| गुरुवार को घोसीपुरा के मुलायम सिंह व रेहट निवासी महेंद्र सिंह को सुपर स्पेशलिटी से डिस्चार्ज कर दिया गया। दोनों को 5 मई को कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था। दोनों में बीमारी के कोई लक्षण नहीं थे। ऐसे में दोनों का टेस्ट निगेटिव आया, तो इन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। पूर्व में मरीज को 14 दिन अस्पताल में रखने के बाद टेस्ट कराया जाता था और निगेटिव आने पर डिस्चार्ज किया जाता था, लेकिन आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल फार मेडिकल रिसर्च) ने बिना लक्षण वाले मरीजों को 10वें दिन डिस्चार्ज करने के संबंध में गाइडलाइन जारी की है। इसी आधार पर स्वास्थ्य संचालनालय ने 11 मई को उक्त आदेश जारी किया गया, जिसमें कहा गया कि यदि मरीज में बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिख रहे तो 10वें दिन उसे डिस्चार्ज कर दिया जाए। ऐसी स्थिति में उसका दूसरी बार आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराने की जरुरत नहीं है। डाॅक्टर्स का मानना है कि दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मरीज से किसी और के संक्रमित हाेने की संभावना खत्म हाे जाएगी। ऐसे में जिन मरीजों (जिनमें बीमारी के लक्षण नहीं दिख रहे) को 10 दिन होने जा रहे हैं, उनका दूसरी बार भी आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाया जा रहा है और रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें डिस्चार्ज किया जा रहा है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए