देश में 2,34,163 कोविड-19 मरीज, इटली से ऊपर हो दुनिया में छठे स्थान पर पहुंचा भारत


नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने 25 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन लागू करने के बाद इसे चार चरणों में 31 मई तक जारी रखा। हालांकि, 3 मई को चौथे चरण की शुरुआत से ही पाबंदियों में ढील दे दी गई और अब 8 जून से कंटेनमेंट एरियाज को छोड़कर पूरे देश में ज्यादातर पाबंदियां हटाने का फैसला किया गया। अनलॉक इंडिया 1 का ऐलान तब किया गया जब 3 मई से दी गई पाबंदियों में ढील के दुष्प्रभाव साफ-साफ दिखने लगे।
3 मई के बाद से न केवल शहरों में बल्कि गांवों में भी कोविड-19 मरीजों की संख्या में तेज वृद्धि दर्ज की जाने लगी क्योंकि प्रवासी मजदूरों को श्रमिक स्पेशल ट्रेनों और बसों के जरिए उनके घर पहुंचाने का अभियान छिड़ गया। फिर तो देश में नए कोरोना पॉजिटिव केस के रेकॉर्ड बनने लगे। परिणाम यह हुआ कि आज भारत दुनिया का छठा सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित देश बन गया है। देश में शुक्रवार को 7,450 नए कोरोना केस सामने आए हैं। इसके साथ ही, देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 2,34,163 हो गई है। हालांकि, अब तक 1,09,461 कोविड-19 मरीज ठीक हो चुके हैं। यानी, देश में तत्काल 1,10,960 कोरोना मरीज ही हैं। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में मरीजों के स्वस्थ होने की दर करीब 48% हो गई है। अनलॉक इंडिया 1 के ऐलान के बीच देश में तेजी से फैलते कोरोना वायरस के संक्रमण ने चिंता बढ़ा दी है। हालत यह है कि देश में एक हफ्ते में कोविड-19 के मामलों में 61 हजार की वृद्धि हो गई। नए केस की तेज रफ्तार से देश में शुक्रवार को इटली से भी 150 ज्यादा कोविड-19 मरीज हो गए। अब भारत 2 लाख, 34 हजार, 163 कोरोना मरीजों के साथ इटली से आगे हो गया और दुनिया में छठे स्थान पर पहुंच गया है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए