गृहमंत्री बनने के बाद पहली बार ग्वालियर आए नरोत्तम अनूप सहित 4 पूर्व मंत्रियों से मिले, की चर्चा


ग्वालियर। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा सूबे में चौथी बार शिवराज सरकार बनने के बाद पहली दफा ग्वालियर आये। इस दौरान उन्होंने 4 पूर्व मंत्रियों और क्षैत्रीय सांसद से बंद कमरे में मुलाकात की। माना जा रहा है आगामी उपचुनाव को लेकर शिवराज सरकार के संकटमोचक कहे जाने वाले गृह मंत्री श्री मिश्रा ने नाराज पूर्व मंत्रियों से चर्चा की है। जो अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर चिंतित है और पार्टी द्वारा कोई जिम्मेदारी नहीं दिए जाने से नाराज हैं। रविवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा डबरा से सड़क मार्ग से ग्वालियर आएं। यहां सर्वप्रथम वे रात करीबन 8:35 बजे पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा के सिंधी कॉलोनी स्थित आवास पर पहुचे और उनसे भेंट की। इस दौरान अनूप मिश्रा की धर्मपत्नी भी मौजूद रहीं। घर आने पर अनूप मिश्रा ने प्रवेश द्वार पर नरोत्तम मिश्रा की आगवानी करते हुए कहा कि तूने पेपर में छपवा दिया, इसलिए इतनी भीड़ हो गई है। इसके बाद अनूप मिश्रा उन्हें घर के अंदर ले गए, जहां बंद कमरे में दोनों के बीच बातचीत हुई। गृह मंत्री अनूप मिश्रा के निवास पर करीबन 30 मिनिट रुके। पत्रकारों से चर्चा में यहां नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वे अपने बड़े भाई से आशीर्वाद लेने आये थे। जब उनसे पूछा गया कि क्या पार्टी डैमेज कंट्रोल किया जा रहा है? इसपर उन्होंने कहा कि डेमेज जैसी कोई बात नहीं है। वही श्री मिश्र को जौरा से टिकट के सवाल पर उन्होंने कहा कि यहां उनसे कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई। वहीं जब गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से हुई मुलाकात के बारे में पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा से पत्रकारों ने पूछा तो उनका कहना है कि उन्होंने कभी टिकट नहीं मांगा। पार्टी के लिए कार्य कर रहा हूं और कार्य करता रहूंगा। नरोत्तम मिश्रा मेरे छोटे भाई हैं, इसलिए वे सौजन्य भेंट के लिए घर पर आए थे। इसके उपरांत वे हरकोटा सीर स्थित पूर्व मंत्री नारायण सिंह कुशवाह, रानी महल स्थित पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह, भिंड रोड स्थित पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया और नई सड़क स्थित क्षैत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर के निवास पर पहुचे और मुलाकात की। गृह मंत्री श्री मिश्रा ने इन सभी नेताओं से अकेले ही मुलाकात की। सूत्रों की मानें तो सांसद श्री शेजवलकर के आवास पर गृह मंत्री श्री मिश्रा ने भोजन किया। जिसके बाद तेंदुलकर मार्ग स्थित अपने निज निवास पर अल्प विराम करने रवाना हो गए। आधिकारिक रूप से प्राप्त कार्यक्रम अनुसार गृह मंत्री का ये दौरा निजी बताया जा रहा है। मगर ढाई घण्टे के अपने व्यस्त कार्यक्रम में नरोत्तम मिश्रा ने विशेषकर उन भाजपा नेताओं से भेंट की, जिनके लिए पिछले कुछ समय से कहा जा रहा है कि ये पार्टी से नाराज हैं। हालांकि इस बात के संकेत पत्रकारों से चर्चा में गृह मंत्री ने नहीं दिए। सभी से मुलाकात को सौजन्य भेंट बताया है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास