ATM मशीन के डिस्पेंसर पर मिले 5000 रुपये, पत्रकार ने बैंक पहुंच कर लौटाए


ग्वालियर। बीते रोज हजीरा क्षैत्र की एक एटीएम मशीन से रुपया निकालने पहुचे पत्रकार को डिस्पेंसर पर किसी अज्ञात व्यक्ति के पांच हज़ार रुपये अटके हुए मिले। उक्त पत्रकार ने आज सबंधित बैंक शाखा को आवेदन के माध्यम से रकम सुपुद्र कर दी। क्योंकि रविवार को बैंक का साप्ताहिक अवकाश होता है। हजीरा क्षैत्र की न्यू कॉलोनी लाईन नंबर 3 निवासी पत्रकार प्रदीप तोमर रविवार शाम करीबन 7 बजे न्यू कॉलोनी स्थित एसबीआई के एटीएम मशीन से रुपये निकालने पहुचे थे। यहां उन्हें मशीन के डिस्पेंसर पर पांच हज़ार रुपये अटके हुए मिले। प्रदीप तोमर के अनुसार रुपये देखकर वे चौंक गए। आस-पास देखा तो उन्हें कोई व्यक्ति भी नहीं दिखा। रविवार को बैंक का साप्ताहिक अवकाश होता है। इसके चलते आज यानी सोमवार को प्रदीप ने उक्त घटना की जानकारी से एसबीआई की तानसेन नगर शाखा प्रबंधक को अवगत कराया और एक आवेदन देकर उक्त रकम बैंक के सुपुद्र कर दी। बकौल पत्रकार रकम 500-500 रुपये के 10 नोट के रूप में मिली थी। वहीं शाखा प्रबंधक प्रबल सिंह ने पत्रकार प्रदीप तोमर की ईमानदारी की प्रशंसा की और उन्हें जागरूक नागरिक बताया। शाखा प्रबंधक का कहना है कि एटीएम मशीन से संबंधित सभी कार्य महाराज बाड़ा स्थित स्केब की देखरेख में कराया जाता है। आवेदन मिलने के बाद उपरोक्त जानकारी स्केब को रेफर कर दी गई है। जिस किसी व्यक्ति की उक्त रकम होगी उस तक पहुचाने का भरसक प्रयास किया जाएगा। शाखा प्रबंधक ने स्वीकारा है कि कभी कभी एटीएम मशीन पर ऐसी समस्या आती हैं जिसमें उपभोक्ता का कैश अटक जाता है।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास