वीरांगना बलिदान मेला; बुधवार को झांसी दुर्ग से पहुंचेगी शहीद ज्योति यात्रा, दीपदान भी होगा

ग्वालियर। वीरांगना बलिदान मेला के अंतर्गत कल 17 जून शाम को झांसी दुर्ग से लाई जाने वाली शहीद ज्योति लक्ष्मीबाई समाधि स्थल पर स्थापित की जाएगी व शहीदों की स्मृति में नागरिक दीपदान करेंगे। वीरांगना बलिदान मेला के पहले दिन 17 जून को शाम 6 बजे बुंदेलखंडी युवाओं की टोली रानी की पुण्य आत्मा की प्रतीक शहीद ज्योति झांसी दुर्ग से लेकर ग्वालियर पहुचेगी। शाम 6 बजे पड़ाव चौराहे से चुनिंदा नागरिक और वीरांगना की झांकियों के साथ पदयात्रा करते हुए समाधि पर पहुंचेंगे। वीरांगना बलिदान मेला के संस्थापक अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया, ग्वालियर सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर के साथ शहीद ज्योति को समाधि स्थल पर स्थापित करेंगे। शाम 7 बजे से दीपदान प्रारंभ होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार समाधि पर 20-20 के समूह में नागरिक श्रद्धा दीप जला सकेंगे। 18 जून को सुबह 8 बजे पुष्पांजलि के उपरांत समाधि के सामने प्रांगण में श्रद्धांजलि उपवास एवं प्रार्थना सभा होगी। उसमें नगर के विभिन्न सामाजिक सांस्कृतिक संगठनों के प्रतिनिधि सीमित संख्या में 12 बजे तक अपनी भावांजलि अर्पित करेंगे। बलिदान मेला के संस्थापक अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री पवैया ने सभी देशभक्त नागरिकों से अपील की है कि सभी कोरोना महामारी के संकट के चलते पैदा हुई स्थिति में सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने श्रद्धा सुमन वीरांगना के चरणों में अवश्य अर्पित करें।


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास