आशुतोष प्रताप सिंह होंगे आयुक्त जनसम्पर्क

भोपाल। जनसंपर्क विभाग में एक बार फिर आईपीएस आशुतोष प्रताप सिंह को संचालक बनाकर शिव'राज' सरकार ने उन्हें अपना टैलेंट दिखाने का फिर मौका दिया हैI आशुतोष प्रताप सिंह की गिनती उन आईपीएस अफसरों में होती हैI जो समय-समय पर अपने कौशल का लोहा मनवाते रहे हैI वे पिछली शिवराज सरकार में भी संचालक जनसंपर्क बने थेI हालांकि उस समय उन्हें ज्यादा समय नहीं मिला लेकिन उनके द्वारा जनसंपर्क में आने मात्र से जनसंपर्क की कार्यशैली में क्रांतिकारी परिवर्तन देखने को मिला थाI
उन्होंने जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी किए जाने वाले विज्ञापनों में बड़ा फेरबदल करते हुए नवीनतम प्रयोग किए थे Iउनके द्वारा किए गए यह प्रयोग वास्तविक धरातल पर शिव'राज' सरकार द्वारा कराई गई कार्यों के आधार पर ही थेI उस समय उनके द्वारा जो विज्ञापन जारी किए गए थेI उनकी टैग लाइन हुआ करती थी, 'दावे नहीं प्रमाण है' इस तरह से उनके द्वारा 15 साल में सरकार द्वारा किए गए कार्यों को तुलनात्मक रूप से प्रस्तुत किया गया थाI शायद यही वजह रही थी कि मध्य प्रदेश के चुनाव परिणाम राजस्थान और छत्तीसगढ़ की तरह नहीं थेI बल्कि भाजपा फिर सत्ता के करीब आ गई थीI सिंह को जनसंपर्क संचालक बनाकर शिवराज सरकार ने एक बार फिर उन्हें कुछ कर गुजरने का मौका दिया हैI और निसंदेह आईपीएस आशुतोष प्रताप सिंह शिवराज सरकार की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे, वह न सिर्फ जनसंपर्क विभाग की विवादित कार्यशैली को सुधारेगे बल्कि सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं को प्रचार-प्रसार के माध्यम से सीधे आम जनता तक पहुंचाने का कार्य करेंगेI

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास