संकट मोचन हनुमान मंदिर में 4 व 5 अगस्त को मनेगी दीपावली, 101 दीपों से होगी महाआरती सजेगा फूलबंगला

श्रावण मास में हनुमान जी आए अपने मूल स्वरूप शिव जी के रूप में और धारण किया त्रिशूल और डमरु।



ग्वालियर। 4 व 5 अगस्त को अयोध्या में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण की नींव रखी जा रही है। भूमि पूजन हो रहा है। इस महत्वपूर्ण और अविस्मरणीय क्षण को उत्सव का रूप प्रदान करते हुए संकट मोचन हनुमान (बालाजी) मंदिर किलागेट गोलपाड़ा में दोनों ही दिन कई कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। बालाजी सरकार के चरणसेवक जगवीर सिंह तोमर ने बताया कि अयोध्या में सारी बाधाएं खत्म होने के बाद होने जा रहे भूमि पूजन को उत्सव का रूप् देते हुए मंदिर में 4 अगस्त को शाम 4 बजे से अखंड रामायण पाठ प्रारंभ किया जाएगा। रात्रि 7:30 बजे 101 दीपक से हनुमान जी, राम जी की महाआरती की जायेगी। फूल बंगला सजाया जाएगा। इसके बाद प्रभु बालाजी महाराज को सवा मन का भोग लगाया जायेगा। रात्रि 8 बजे अनिश्चतकालीन नरंतर होने वाला हवन यज्ञ होगा। 5 अगस्त को रामायण पाठ के समापन के बाद सुंदरकांड पाठ होगा। शाम 7:30 बजे आरती के साथ मंदिर में दीपोत्सव यानी दीपावली मनाई जायेगी इसके बाद सवा मन खीर का वितरण किया जावेगा।
श्री तोमर ने कहा कि उनका एकमाद्ध उद्देश्य हर चेहरे पर मुस्कान देखना है। इसी के साथ वह देश से कोरोना महामारी के खात्मे के लिए लगातार प्रभु बालाजी सरकार के चरणों में प्रार्थना कर रहे हैं और मंदिर में अनवरत हवन यज्ञ जारी है। संकट मोचन मंदिर समिति के केके अग्रवाल, जयराम सिंह यादव, चंद्रप्रकाश श्रीवास्तव, किशर सिंह तोमर, दीपक श्रीवास्तव, सुरेश गोयल, समर सिंह तोमर, प्रसून सिंह तोमर, राजेंद्र ठाकुर आदि ने श्रद्धालुओं से ज्यादा से ज्यादा संख्या में मंदिर पहुंचकर प्रभु बालाजी सरकार और प्रभु श्रीराम की महाआरती में भाग लेकर प्रसादी ग्रहण करें।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ग्वालियर; कोरोना संक्रमित ने किया आत्महत्या का प्रयास, अस्पताल की तीसरी मंजिल से कूदा, गंभीर घायल