होटल शेल्टर को कोविड केयर आईसोलेशन बनाकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहा आरजेएन अपोलो ग्रुप


जिला प्रशासन भी नहीं दे रहा ध्यान, स्थीनिय लोगों ने कलेक्टर से होटल शेल्टर से केयर आईसोलेशन हटाने की मांग की
ग्वालियर। शहर मे बड़ रहे कोरोना मरीजों को देखते हुए प्रशासन ने कई नए सेंटर बनाये हैं। इनमें स्कूल, मैरिज होल, गेस्ट हाउस और होटल शामिल हैं। इसके साथ ही कोरोना का इलाज प्राइवेट हॉस्पिटल्स में भी हो रहा है। इसी कड़ी में आरजेएन अपोलो ग्रुप ने पड़ाव स्थित होटल सेल्टर को कोरोना मरीजों के लिये अधिग्रहित किया है। जो कि बहुत ही गेर जिम्मेदाराना निर्णय है। पहले तो यह भीड़ भरी जगह पर है। यह से हज़ारों लोग निकलते हैं। दूसरा होटल के ठीक पीछे वार्ड क्रमांक 32 में गरीब बस्ती लछमण पुरा बसी हुई है। इस कोविड केयर आईसोलेशन के कारण यहां रह रहे हजारों गरीबों की जिंदगी पर खतरा मंडरा रहा है। अगर इन गरीबों कोरोना महामारी ने जकड़ लिया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। आरटीए ग्रुप या जिला प्रशासन।
स्थानीय लोगों ने होटल शेल्टर को कोविड केयर आईसोलेशन बनाये जाने का विरोध किया है। उन्होंने जिला कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह, एसपी नवनीत भसीन सहित जिम्मेदार अधिकारियों से निवेदन किया है कि वे आरटीएन ग्रुप को होटल शेल्टर के स्थान पर कहीं दूसरी जगह कोविड केयर आईसोलेशन बनाये जहाँ भीड़ भाड़ कम हो और गरीबों की जिंदगी जोखिम में न फसे।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

डॉ. कलाम की स्मृति में स्कूलों में मनेगा राष्ट्रीय आविष्कार सप्ताह