जेलों में कैदियों की इम्युनिटी पावर बढ़ाने के लिए काढ़ा दिया जाएगा, खाने में अब सलाद भी रहेगा

भोपाल। मध्यप्रदेश की जेलों में अब कैदियों की इम्युनिटी पावर बढ़ाने के लिए काढ़ा दिया जाएगा। इतना ही नहीं, उन्हें खाने के साथ सलाद भी दी जाएगा। यह निर्देश गुरुवार को भोपाल की केंद्रीय जेल के दौरे के दौरान गृहमंत्री ने दिए। उन्होंने खुद कैदियों काे जेल में बनने वाला खाना टेस्ट किया।
प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए जेल में बंद बंदियों से मिलने के लिए 31 जुलाई तक प्रतिबंध है। पहले यह 30 जून तक था, जिसे बाद में बढ़ा दिया गया। डीजी जेल संजय चौधरी ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते 23 मार्च से लॉकडाउन शुरू किया गया था। इसके तहत जेल में बंदियों से मुलाकात पर भी 31 मई तक रोक लगा दी गई थी। वहीं, प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए मुलाकात पर रोक की अवधि एक माह और बढ़ाकर यह 30 जून तक कर दी थी। इसके बाद शासन के आदेश पर अब इसे 31 जुलाई तक किया गया है। इस दौरान बंदियों से कोई मुलाकात नहीं कर सकता है।
क्षमता से ज्यादा बंदी जेलों में हैं : मध्यप्रदेश की करीब 131 जेलों में से 75 प्रतिशत से ज्यादा में क्षमता से अधिक कैदी हैं। मध्यप्रदेश की जेलों में करीब साढ़े 28 हजार कैदी रखने की क्षमता है, जबकि वर्तमान में करीब 40 हजार कैदी रह रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद करीब साढ़े 6 हजार कैदियों को कोविड-19 के चलते भीड़ कम करने के लिए छोड़ा जा चुका है

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकार बताए मुर्ति का साईज छोटा करने से कैसे रुकेगा कोरोना: जगवीर दास