श्रीलंका ने कहा-हमारी विदेश नीति में भारत को मिलेगी प्राथमिकता


नई दिल्ली। जब नेपाल समेत तमाम पड़ोसी देशों के साथ भारत के रिश्ते तनावपूर्ण चल रहे हैं। श्रीलंका ने भारत को आश्वस्त करने की कोशिश की है। श्रीलंका के विदेश सचिव जयनाथ कोलंबेज ने कहा है कि श्रीलंका अपनी विदेश नीति में 'इंडिया फर्स्ट' को अपनाएगा और भारत के सभी सामरिक हितों की सुरक्षा करेगा। पिछले कुछ दिनों में हुए घटनाक्रमों के बाद ये आशंका जताई जा रही थी कि श्रीलंका का झुकाव भारत के मुकाबले चीन की तरफ ज्यादा हो गया है। एडमिरल कोलंबेज पहले ऐसे विदेश सचिव बने हैं जिनकी सैन्य पृष्ठभूमि रही है। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने उन्हें 14 अगस्त को विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी थी। कोलंबेज 2012-14 के बीच श्रीलंका की नौसेना के प्रमुख रहे और बाद में विदेश नीति विश्लेषक बन गए। एक इंटरव्यू में कोलंबेज ने कहा कि श्रीलंका अपनी नयी क्षेत्रीय विदेश नीति में 'इंडिया फर्स्ट' के तहत कदम उठाएगा। उन्होंने कहा, ''इसका मतलब है कि श्रीलंका ऐसा कुछ भी नहीं करेगा जो भारत के रणनीतिक सुरक्षा हितों के लिए नुकसानदेह हो। उन्होंने कहा, ''चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और भारत छठवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. 2018 में भारत दुनिया की सबसे तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था थी। इसका मतलब है कि हम दो आर्थिक दिग्गजों के बीच हैं.


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कांग्रेस दूसरी लिस्ट एक-दो दिन में जारी कर सकती है, 12 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम तय