कृषि एवं सहकारिता के बल पर प्रदेश आत्मनिर्भर बनेगा : सहकारिता मंत्री


भोपाल। सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया ने कहा है कि कृषि एवं सहकारिता के बल पर प्रदेश आत्मनिर्भर बनेगा। इससे युवाओं और जरूरतमंद बेरोजगारों को रोजगार के अवसर भी सुलभ होंगे। इसके लिए भारत सरकार से प्रदेश को 7500 करोड़ रूपये की राशि मिली है। मंत्री डॉ. भदौरिया शुक्रवार को गुना जिले के बमौरी में ''आत्म निर्भर भारत-सहकारी संगोष्ठी'' विषय पर आयोजित सहकारिता सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने की। इस अवसर पर गुना विधायक श्री गोपीलाल जाटव भी मौजूद रहे।
सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने कहा कि जिले से सहकारिता क्षेत्र के जो भी प्रोजेक्ट प्राप्त होंगे उसे शीघ्र-अतिशीघ्र स्वीकृति प्रदान की जाएगी। आत्मनिर्भर भारत योजनांतर्गत प्राथमिक सहकारी साख समितियों को आत्मनिर्भर व सुदृढ़ करने के उद्देश्य से एक प्रतिशत ब्याज की दर पर 2 करोड़ रूपये राशि तक का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। इसके लिए जरूरी है कि समितियाँ व्यवस्थित हों और समय पर उनका ऑडिट भी हो। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने बमौरी क्षेत्र में पोहा मिल एवं पॉपकॉर्न मिल लगाए जाने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र के युवाओं को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलेगा और किसानों की आय में वृद्धि होगी। कार्यक्रम के अंत में अतिथिद्धय द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, केसीसी सामान्य एवं पशुपालन की कार्यशील पूंजी के चेक लाभार्थियों को प्रदाय किए गए।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुरैना में 10, ग्वालियर और भिंड में 7-7, शिवपुरी व श्योपुर में 1-1 संक्रमित