अगर आप सोने जा रहे हैं तो भूल कर भी न करें यह गलती, चेहरा हो सकता है खराब


नई दिल्ली। हम अपनी त्वचा की देखभाल के लिए क्या नहीं करते लेकिन उसके बावजूद भी कई ऐसी गलतियां हमसे हो जाती हैं जिनके बारे में हमें पता ही नहीं होता। इसीलिए आज हम आपको बता रहे हैं कि त्वचा का ख्याल रखते समय क्या सावधानी रखनी चाहिए। रात में सोने से पहले कुछ ऐसे जरूरी काम हैं, जिसे करने से आपकी स्‍किन सुबह उठने के बाद बिल्‍कुल खिली-खिली सी नजर आएगी। तो चलिए जानते हैं सोने से पहले स्किनकेयर से जुड़ी कुछ आम गलतियां...
​गंदी तकिए का प्रयोग करना : सोते समय आपके चेहरे से निकलने वाला तेल और सिर के बाल, तकिए पर ही गिरते हैं। इससे तकिए के कवर पर धीरे धीरे बैक्टीरिया और पसीना जमा होने लगता है। यदि आप नहीं चाहती कि आपकी स्‍किन पर मुंहासे निकलें तो, तकिए के कवर को कम-से-कम हर सप्ताह बदलें।
​अपने होठों को मॉइस्चराइज करना भूल जाना : नाइट क्रीम लगाना आपकी शाम की दिनचर्या का हिस्सा हो सकता है। लेकिन अपने होठों को नजरअंदाज बिल्‍कुल भी न करें। होठों की स्‍किन पतली और नाजुक होती है, जो जल्‍द ही बेजान, ड्राय और फटने लगती है। होठों पर ऐसा लिप बाम लगाएं जिसमें शीया बटर, ग्लिसरीन या थोड़ा सा नारियल का तेल हो। होठों पर नमी बनाए रखने के लिए अपनी नाभि में तेल लगाएं।
​स्‍किन को ओवरक्लीन करना : चेहरे को जरूरत से ज्‍यादा धोना आपकी स्‍किन के लिए हानिकारक हो सकता है। चेहरे को ज्‍यादा धोने से स्‍किन ड्राय हो जाती है और प्राकृतिक बैक्टीरिया भी धुल जाता है, जिससे संक्रमण और ब्रेकआउट हो सकता है। इसके अलावा चेहरे को साफ करने के लिए हर बार फेसवॉश का इस्तेमाल न करें। फेसवॉश में मौजूद रासायनिक तत्व आपकी त्वचा की कोमलता और प्राकृतिक चमक को छीन सकते हैं।
​नींद में कंजूसी करना : आप यकीन करें या न करें मगर ब्‍यूटी स्‍लीप लेना बेहद जरूरी है। वे लोग जो 6 घंटे से कम की नींद लेते हैं, उनकी स्‍किन अच्‍छी तरह से रिपेयर नहीं हो पाती। जिसके चलते चेहरे का रंग डल तो होता ही है साथ में झुर्रियां और डार्क सर्कल्‍स जल्‍दी पड़ते हैं। नेशनल स्लीप फाउंडेशन के अनुसार, पर्याप्त नींद न लेने से भी चेहरे पर मुंहासे, सूजन और शरीर में स्‍ट्रेस हार्मोन बढ़ सकता है।
​गलत एंटी-एजिंग क्रीम चुनना : अधिकांश एंटी-एजिंग क्रीम में मिनरल ऑयल पाए जाते हैं, जो स्‍किन को केवल मॉइस्चराइज करने का काम करते हैं। चेहरे पर पड़ी झुर्रियां तब बेहद खराब लगती हैं जब उनमें ड्रायनेस दिखती है। इन्‍हें कम करने के लिए किसी भी प्रकार का मॉइस्‍चराइजर काम कर सकता है। लेकिन यह झुर्रियों के मूल कारण का पता नहीं लगा पाता। जब तक कि आपकी एंटी-एजिंग क्रीम में रेटिनॉल नहीं है, तब तक आपकी स्‍किन को किसी भी प्रकार का लाभ नहीं मिल पाएगा।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रदेश में मजदूर कमीशन बनेगा, छोटे काम करने वालों को मिलेंगे 10 हजार रुपए