भारतीय सेना के जवानों को लद्दाख में पेट्रोलिंग करने से कोई ताकत नहीं रोक सकती: राजनाथ सिंह


नई दिल्ली। कोरोना के दौरान संसद के पहले सत्र (मानसून) का आज चौथा दिन है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज राज्यसभा में भी चीन विवाद पर बयान दिया गया। उन्होंने कहा है कि दुनिया की कोई ताकत लद्दाख में भारतीय जवानों को पेट्रोललिंग करने से नहीं कोई सकती है। पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना का बिल्ड अप पहली बार अप्रैल में दिखाई दिया था। उन्होंने गलवान में हमारे जवानों के पेट्रोलिंग रूट को रोकने की कोशिश की थी।
राजनाथ बोले, चीन के साथ सीमा का प्रश्न अभी तक अनसुलझा है। मई में चीन एलएसी पर कई बार हदें पार करने की कोशिश की। चीन ने बातचीत के बीच ही 29-30 अगस्त को लद्दाख में उकसावे की कार्यवाही की। उसकी कथनी और करनी में अन्तर हैं।
राजनाथ ने कहा, "चीन के रवैए से पता चलता है कि वह दोनों देशों के समझौतों का सम्मान नहीं करता। चीन की सेना ने 1993 और 1996 के समझौते तोड़े। बॉर्डर पर शांति रखने के लिए एलएसी का सम्मान करना जरूरी है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

डॉ. कलाम की स्मृति में स्कूलों में मनेगा राष्ट्रीय आविष्कार सप्ताह