महाराष्ट्र के सीएम उद्धव बोले- मेरी चुप्पी का यह मतलब नहीं निकाला जाए कि मेरे पास शब्द नहीं है

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना सरकार और अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच चल रहे विवाद के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे रविवार को जनता के सामने आए। हालांकि उन्होंने कंगना विवाद पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी। उन्होंने लाइव आकर जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वह चुप हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उनके पास जवाब नहीं है। उन्होंने कोरोना को लेकर लोगों को जागरूक होने की बात कही। अपने संबोधन की शुरुआत करते उद्धव ठाकरे ने कहा, 'महाराष्ट्र को लेकर जो चीजें हो रही है, उसको लेकर मैं आज बात करूंगा। शुरुआत करते समय मैं कोरोना पर ही बात करूंगा। अब कहा जा रहा है कि कोरोना का संकट बढ़ता ही जा रहा है। WHO की रिपोर्ट में भी यही बात कही गई है। सभी धर्म के लोगों ने सामाजिक जिम्मेदारी का पालन करते हुए अपने त्योहार मनाएं। करोना का संकट बढ़ रहा हैं और भी बढ़ेगा।
उद्धव ठाकरे ने कहा, 'मैं बोल नहीं रहा हूं, इसका मतलब यह नहीं है कि मेरे पास जवाब नहीं है। महाराष्ट्र सरकार लगातार प्रतिकूल परिस्थिति में काम कर रही है। तूफान भी मुंबई में आकर गया। महाराष्ट्र सरकार ने उस स्थिति में भी अच्छा काम किया। मैं राजनीति पर बात नहीं करूंगा।' उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की बदनामी का जो सिलसिला चल रहा है। इस पर वह सीएम पद का मास्क उतार कर बात कर रहे हैं।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कांग्रेस दूसरी लिस्ट एक-दो दिन में जारी कर सकती है, 12 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम तय