माता के साइज पर लगा प्रतिबंध हटने से हर्ष, अब नहीं जलेगा शिवराज का पुतला : जगबीर दास


ग्वालियर। प्रदेश सरकार द्वारा दुर्गा महोत्सव के दौरान स्थापित होने वाली माता की मूर्तियों का साइज फिक्स करने से भक्तों में आक्रोश था। यही कारण था कि गोलपाड़ा स्थिति संकट मोचन हनुमान (बालाजी) मंदिर के चरणसेवक जगबीर दास ने प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला दहन करने का निर्णय लिया था। इसी कड़ी में 29 सितंबर मंगलवार को शिवराज सरकार का पुतला दहन किया भी गया था। लेकिन आज प्रदेश की शिवराज सरकार ने माता का साइज पर लगा प्रतिबंध हटा लिया। इसके साथ ही माता के पंडाल का साइज भी बढ़ा दिया गया है। इससे भक्तगणों में हर्ष व्याप्त है।
चरण सेवक जगबीर दास ने कहा कि अब चूंकि प्रदेश की शिवराज सरकार ने हमारी मांगें मान ली है। इसलिए संकट मोचन मंदिर समिति ने प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का पुतला नहीं जलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि लेकिन वे अभी अपनी इस मांग पर कायम है कि धर्म और आस्था लगी सभी बंदिशें खत्म होनी चाहिए। क्योंकि आज हमें इस कोरोनारूपी माहमारी से कोई बचा सकता है तो वह सिर्फ और सिर्फ ईश्वरीय शक्ति ही है। प्रदेश सरकार के निर्णय पर मंदिर समिति के जय राम सिंह यादव केके अग्रवाल किशन सिंह तोमर दौलतराम जैन दीपक श्रीवास्तव सुरेंद्र परमार भूरे सिंह तोमर संजय जैन रवि अग्रवाल चंद्र प्रकाश श्रीवास्तव रामसेवक शर्मा अंकित अग्रवाल शिवराज सिंह सिकरवार श्याम कुमार शर्मा नितिन सिंह तोमर केशव तिवारी जितेंद्र सिंह तोमर आदि लोगों ने हर्ष व्यक्त किया है।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुरैना में 10, ग्वालियर और भिंड में 7-7, शिवपुरी व श्योपुर में 1-1 संक्रमित