अमेरिकी : ट्रम्प और बाइडेन दोनों जीत से दूर, कोर्ट में जाने की तैयारी

न्यूयॉर्क। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए काउंटिंग जारी है, बहुमत किसी को मिलता नहीं दिख रहा। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, अब तक बाइडेन को 227 और ट्रम्प को 213 इलेक्टोरल वोट मिल चुके हैं। जीत के लिए 270 वोट चाहिए। मामला फंसता दिख रहा है। इसकी दो वजह हैं। पहली वजह- 10 करोड़ लोगों ने बैलट से प्री-वोटिंग की थी। ऐसे बैलट की बड़ी तादाद में गिनती बाकी है। दूसरी वजह- ट्रम्प जीत का एकतरफा और झूठा ऐलान कर चुके हैं। उनके बयान का लहजा देखिए- ‘चूंकि हम जीत गए हैं, तो अभी भी जहां-जहां वोटिंग चल रही है, वह सारी वोटिंग रुक जानी चाहिए। इसके लिए हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।’ उधर, बाइडेन अभी शांत नजर आ रहे हैं, लेकिन उनकी लीगल टीम लंबी कानूनी लड़ाई की तैयारी में जुट गई है।
इस बार बड़ी बात यह रही कि ट्रम्प 29 इलेक्टर्स वाले सबसे अहम स्विंग स्टेट फ्लोरिडा में जीत बरकरार रखने में कामयाब रहे। कहा जाता है कि इस स्विंग स्टेट में जो जीतता है, वही व्हाइट हाउस पहुंचता है। 100 साल का इतिहास यही कहता है। NBC का एग्जिट पोल बताता है कि फ्लोरिडा में रहने वाले लैटिन अमेरिकी वोटर्स ने ट्रम्प का साथ दिया। क्यूबा मूल के 55%, प्यूर्टोरिको के 30% और 48% अन्य लैटिन अमेरिकी मूल के वोटर्स ट्रम्प के साथ थे। इसी वजह से उन्हें यहां अब तक कुल 51.6% वोट मिले।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जयप्रकाश एवं आदित्य श्रीवास्तव अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के प्रदेश सचिव मनोनीत