किसानों ने किया 24 घंटे की भूख हड़ताल का ऐलान, हरियाणा में 25 से 27 दिसंबर तक हाईवे के टोल प्लाजों पर प्रदर्शन

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ अब भी किसानों का आंदोलन जारी है। विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। दिल्ली की सीमाओं पर किसानों ने डेरा डाला हुआ है। किसान यूनियनों से जुड़े नेताओं का साफ कहना है कि जब तक सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इसी बीच किसानों ने ऐलान किया कि सोमवार को एक दिवसीय रिले भूख हड़ताल करेंगे। इसके साथ ही 25 से 27 दिसंबर तक हरियाणा में राजमार्गों पर टोल वसूली को भी मुफ्त करेंगे। वहीं 23 दिसंबर यानि किसान दिवस के दिन भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत ने लोगों से अपील की है कि 23 दिसंबर को एक दिन का उपवास रखें। दरअसल किसान सोमवार को सभी प्रदर्शन स्थलों पर एक दिन की क्रमिक भूख हड़ताल करेंगे और 25 से 27 दिसंबर तक हरियाणा में सभी राजमार्गों पर टोल वसूली नहीं करने देंगे। दिल्ली की तमाम सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान बीते करीब चार हफ्ते से प्रदर्शन कर रहे हैं और नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं।
स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव ने सिंघू बॉर्डर पर संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘सोमवार को सभी प्रदर्शन स्थलों पर किसान एक दिन की क्रमिक भूख हड़ताल करेंगे। इसकी शुरुआत यहां प्रदर्शन स्थलों पर 11 सदस्यों का एक दल करेगा।’ उन्होंने देशभर में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे लोगों से प्रदर्शन स्थलों पर एक दिन की भूख हड़ताल करने का आह्वान किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस ने दिखाई सख्ती, 163 लोगों की चालान काटे