ब्रिटेल में मिला कोरोना का नया रूप, खौफ में पूरी दुनिया, यूके से भारत आने वाली फ्लाइटस 31 तक बेन

नई दिल्‍ली। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया रूप सामने आने के बाद भारत सरकार ने ऐहतियाती कदम उठाए हैं। यूनाइटेड किंगडम से भारत आने वाली सभी फ्लाइट्स 22 दिसंबर की रात 11.59 बजे से लेकर 31 दिसंबर की रात 11.59 बजे तक स्‍थगित रहेंगी। सरकार ने यह कदम यूके में नए स्‍ट्रेन के सामने आने से उपजे हालात को देखते हुए लिया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने इसे लेकर एक उच्‍चस्‍तरीय बैठक बुलाई थी। जिसके बाद यूके से आने वाले उड़ानों पर अस्‍थायी रोक लगाने का फैसला हुआ। दिल्‍ली और राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्रियों ने भी केंद्र से ऐसा फैसला करने को कहा था। ऐहतियात के तौर पर, सभी ट्रां‍जिट फ्लाइट्स में यूके से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट्स पर अनिवार्य रूप से टेस्‍ट कराना होगा। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यह फैसला कोविड के नए स्‍ट्रेन को भारत में फैलने से रोकने के लिए किया है। 22 दिसंबर की रात 11.59 बजे से पहले टेकऑफ कर चुकी फ्लाइट्स या उससे पहले टेकऑफ करने वाली फ्लाइट्स के यूके पैसेंजर्स को भारत में RT-PCR टेस्‍ट कराना होगा।
कोविड-19 वायरस के इस नए रूप का दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड और लंदन में मामलों में भारी योगदान देखा गया है। इसी के बाद, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने अपने शीर्ष सलाहकारों की एक आपात बैठक बुलाई थी। इस संयुक्त निगरानी समूह की अध्यक्षता स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक ने की। आपातकालीन बैठक में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR), विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रतिनिधि और अन्य लोग शामिल हुए। ब्रिटेन और अमेरिका के हेल्‍थ एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक, नया स्‍ट्रेन बाकियों के मुकाबले जल्‍दी संक्रमित करता है लेकिन अभी इसके सबूत नहीं है कि ये ज्‍यादा घातक है। ब्रिटिश सरकार के मुख्‍य वैज्ञानिक सलाहकार पैट्रिक वलांस ने कहा कि स्‍ट्रेन 'तेजी से फैलता है और प्रमुख वैरियंट बनता जा रहा है।' दिसंबर में लंदन के भीतर 60% से ज्‍यादा इंन्‍फेक्‍शंस इसी स्‍ट्रेन से फैले। चिंता की एक बड़ी वजह यह है कि इस स्‍ट्रेन के कई म्‍यूटेशंस हैं- करीब दो दर्जन की पहचान हो चुकी है। कुछ म्‍यूटेशंस तो उस स्‍पाइक प्रोटीन पर हैं जिनका इस्‍तेमाल वायरस कोशिकाओं से जुड़ने और उन्‍हें संक्रमित करने के लिए करता है। जो वैक्‍सीन बनी हैं, वे स्‍पाइक को ही निशाना बनाती हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया