पश्चिम बंगाल : विधानसभा चुनाव से पहले टीएमसी में भगदड़ ने बढ़ाई ममता बनर्जी की चिंता

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के किले में एक-एक करके सेंध लगती जा रही है। नेताओं के बीच पार्टी छोड़ने की भगदड़ जैसी मची है। शुक्रवार को पार्टी की अल्‍पसंख्‍यक सेल के महासचिव कबीरुल इस्‍लाम ने भी इस्‍तीफा सौंप दिया। उनसे पहले, वरिष्‍ठ नेता शीलभद्र दत्‍ता टीएमसी की सदस्‍यता त्‍याग चुके थे। पिछले दो दिन में मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी को चार झटके लगे हैं। गुरुवार को सुवेंदु अधिकारी और आसनसोल से जिलाअध्यक्ष जितेंद्र तिवारी ने पार्टी छोड़ दी थी। बता दें कि शीलभद्र दत्ता 24 परगना जिले के बैरकपुर से विधायक हैं। सुवेंदु के साथ शीलभद्र के भी बीजेपी का दामन थामने के कयास लगाए जा रहे हैं। उधर जितेंद्र तिवारी भी दो बागियों के साथ कोलकाता पहुंचे हैं। कुछ समय पहले ही उन्होंने आसनसोल नगर निगम के बोर्ड ऑफ चेयरमैन पद भी छोड़ दिया था। इस दौरान उन्होंने कहा, 'जब राज्य सरकार को लगा कि मेरा जीवन कीमती है, उन्होंने मुझे सुरक्षा दी। अब सरकार को लगता है कि मेरे जीवन का कोई मोल नहीं है, मेरी सिक्यॉरिटी हटा दी गई।' फिलहाल जितेंद्र पांडेश्वर से विधायक हैं।
वहीं तृणमूल कांग्रेस में बड़े नेताओं के बागी होने के बाद पार्टी की चिंता बढ़ने लगी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को टीएमसी की इमर्जेंसी की मीटिंग बुलाई है। हालांकि, टीएमसी के सूत्रों का कहना है कि यह कोई इमर्जेंसी मीटिंग नहीं है, बल्कि यह पार्टी की नियमित बैठकों का ही एक हिस्सा है। टीएमसी सूत्रों ने बताया कि हर शुक्रवार पार्टी की अध्यक्ष टीएमसी नेताओं से बैचों में मिलती हैं। बता दें कि अगले साल बंगाल की 294 सीटों पर विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इससे पहले सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस में भगदड़ मची है। पश्चिम बंगाल में तेज सियासी हलचल के बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला आज डीजीपी विरेंद्र और मुख्य सचिव अलप्पन बंदोपाध्याय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे। एक दिन पहले ही गृह मंत्रालय ने तीनों आईपीएस अधिकारियों को फिर से समन भेजा था। बता दें कि पश्चिम बंगाल में जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले के बाद से डीजीपी- मुख्य सचिव के अलावा तीन आईपीएस अधिकारियों को तलब किया जा चुका है लेकिन राज्य सरकार ने इससे इनकार कर दिया था।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया