ग्वालियर नगर निगम अब कचरे से खाद

ग्वालियर। सालाें से बंद पड़ी लैंडफिल साइट काे अब नगर निगम ने फिर से शुरू करने की तैयारी कर ली है। नगर निगम ने लैंडफिल साइट काे अपने अधिपत्य में ले लिया है। कमिश्नर ने एक सप्ताह में यहां पर कचरे से खाद बनाने की प्राेसेस शुरू करने के निर्देश दिए हैं। जिससे शहर से निकलने वाले कचरे के निस्तारण की समस्या काफी हद तक हल हाे जाने की संभावना है।
दरअसल शिवपुरी लिंक राेड स्थित लैंडफिल साइट पर जिस कंपनी काे कचरे से खाद बनाने का काम दिया गया था, वह काम छाेड़कर भाग गई थी। इसके बाद से लैंडफिल साइट पर कचरे से खाद बनाने का काम पूरी तरह से बंद हाे गया था। इस अवधि में यहां कचरा डाला जाता रहा है, जिसके कारण यहां कचरे के ढेर लग गए हैं। ईकाेग्रीन कंपनी के काम बंद करने के बाद अब नगर निगम के लिए कचरा उठाने के साथ ही निस्तारण का काम भी बड़ी परेशानी बन चुका है। इस समस्या काे हल करने के लिए नगर निगम कमिश्नर ने मंगलवार की सुबह शिवपुरी लिंक राेड केदारपुर स्थित लैंडफिल साइट का निरीक्षण किया। इस दाैरान लैंडफिल साइट काे अधिपत्य में लेने के साथ ही कमिश्नर ने कचरे से खाद बनाने की प्राेसेस काे फिर से शुरू करने के निर्देश भी दे दिए हैं।निरीक्षण के दाैरान अपर आयुक्त नराेत्तम भार्गव, नाेडल अधिकारी श्रीकांत कांटे सहित कंपनी के प्राेजेक्ट हेड व नगर निगम के अधिकारी माैजूद थे। इस दाैरान साइट पर प्लांट काे चलाकर चैक भी किया गया है।

आज से प्लांट चालू किये जाने के निर्देश

– एक सप्ताह मे खाद बनना हो जाए प्रारंभ।
– नारायण विहार, मेला ग्राउंड एवं बुद्धा पार्क स्थित ट्रांसफर स्टेशन आज ही प्रारंभ होंगे।
– भस्मक को पुनः चालू किये जाने के लिए उपयंत्री अभिनव तिवारी को निर्देश दिए गए।
– इसके साथ ही निगमायुक्त द्वारा नोडल अधिकारी श्रीकांटे को कहा गया कि निगम के कर्मचारियों को भी प्लांट के कार्य में प्रशिक्षित किया जाए, जिससे कोई भी कंपनी के कार्य ना करने अथवा कार्य छोड़ कर चले जाने पर निगम के कर्मचारी कार्य संभाल सकें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया