योगी सरकार को शीर्ष अदालत का झटका, डॉ कफील की रिहाई के खिलाफ याचिका की खारिज

लखनऊ। देश शीर्ष अदालत ने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार को तगड़ा झटका देते हुए उसकी डॉ. कफील खान की रिहाई के खिलाफ की अपील खारिज कर दी है। यूपी सरकार ने कफील खान के ऊपर एनएसए हटाए जाने और उनकी रिहाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली थी। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि हाईकोर्ट की टिप्पणी आपराधिक मामलों को प्रभावित नहीं करेगी और कफील के खिलाफ दर्ज मामले का निपटारा शीर्ष अदालत की मेरिट के आधार पर होगा। यूपी सरकार ने कफील खान की रिहाई के इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले का विरोध किया था। सरकार की ओर से याचिका में कहा गया था कि डॉ. कफील खान का इतिहास ऐसे कई अपराध करने का रहा है जिनके कारण अनुशासनात्मक कार्रवाई हुई है। बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 1 सितंबर को कफील खान को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया था। वह साढ़े सात महीने तक जेल में बंद रहे थे। हाई कोर्ट ने आदेश सुनाते हुए कहा था कि एनएसए के तहत डॉ. कफील को हिरासत में लेना और हिरासत की अवधि बढ़ाना गैरकानूनी है। इसके बाद 2 सितंबर को कफील खान को मथुरा जेल से रिहा कर दिया गया था। यूपी सरकार इसी फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी।

 

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राहुल की साहसिक पारी से जूनियर टीम ने सीनियर को दी शिकस्त