वरिष्ठ पत्रकार केशव पांडे ने किया सरकारी जगह पर अतिक्रमण

पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की छवि कर रहे खराब
ग्वालियर।
एक कहावत है जब बांगड़ ही फसल खराब करे तो बचाएगा कौन। इस कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार और सांसद सिंधिया के मीडिया सचिव केशव पांडे। श्री पांडे पत्रकारिता जैसे पवित्र पैशे से जुड़े होने के बावजूद सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर रहे हैं जबकि एक पत्रकार पर अतिक्रमण सहित गलत कार्यों के प्रति जनता और सरकार का ध्यान आकर्षित कर उसे खत्म करवाने की महत्ती जिम्मेदारी होती है। इससे सिंधिया जी की छवि को भी नुकसान होने की संभावना है। क्योंकि जब उनके अपने लोग ही अतिक्रिमण जैसे घिनौने क्रत्य में लिप्त होंगे तो वे इसके खिलाफ आवाज बुलंद कैसे कर पाएंगे।
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार वरिष्ठ पत्रकार केशव पांडे ने पड़ाव चौराहे के पास स्थिति सांध्य समाचार की बिल्डिंग के पीछे खाली पड़ी सरकारी भूमि पर कब्जा कर लिया है। उन्होंने जिस जगह पर कब्जा किया है वहां पहले से ही मप्र प्राक्रतिक चिकित्सालय की सीवर लाइन एवं नल की लाइन जुड़ी हुई है। श्री पांडे के जमीन पर कब्जा कर लेने के बाद अगर प्राक्रतिक चिकित्सालय की सीवर चौकी हुई या नल कनेक्‍शन में कोई खराबी आती है तो वह कैसे ठीक होगी। इसके अलावा इस जमीन पर अतिक्रमण के आसपास स्थित अन्य लोगों को भी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, इसलिए प्रशासन को इस ओर ध्यान देते हुए इस अतिक्रमण को तत्काल हटवाना चाहिए। जिससे आगे कोई विवाद की स्थिति निर्मित न हो।
स्थानीय रहवासियों ने सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी अपील की है कि वे केशव पांडे को निर्देश दें कि वे सरकारी जमीन पर किये गये कब्जे को तत्काल खाली करें। क्योंकि पांडे के इस क्रत्य से श्री सिंधिया की छवि पर विपरीत असर पड़ेगा और वे अतिक्रमणकारियों के खिलाफ आवाज बुलंद नहीं कर पाएंगे। इसके साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा छेड़ी गई माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई पर भी सवालिया निशान लग जाएंगे। इसके साथ ही उनके विरोधी श्री पांडे के इस क्रत्य को उनके खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं। जिससे उनकी छवि एवं प्रतिष्ठा धूमिल होगी।

सांध्य समाचार अखबार के लिए दी गई जमीन की लीज हुई समाप्त
केशव पांडे को प्रदेश सरकार द्वारा सांध्य समाचार अखबार के लिए 29 अप्रैल 1988 को पड़ाव चौराहे के पास जमीन आवंटित की गई थी। इसकी लीज 28 अप्रैल 2018 को समाप्त हो गई है। लेकिन पांडे द्वारा इसका नवीनीकरण नहीं कराया गया है। सरकार द्वारा दी गई जमीन पर श्री पांडे ने एक बिल्डिंग का निर्माण करते हुए अखबार का कार्यालय बनाया था। लेकिन वर्तमान में यहां अब अखबार का कार्य नहीं हो रहा है। यहां श्री पांडे के पुत्र संस्कार पांडे द्वारा अस्पताल खोला जा रहा है। इसका बोर्ड भी बिल्डिंग के बाहर लगा दिया गया है। यह सरकार के नियमों का खुला उल्लंघन है। श्री पांडे ज्योतिरादित्य सिंधिया के मीडिया प्रभारी होने का गलत फायदा उठा रहे हैं। वे नगर निगम एवं जिला प्रशासन के कर्मचारियों को दबाव में लेकर अपने खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होने देते हैं। इसके साथ ही अधिकारियों को फोन कर धमकी देते हैं कि अगर उनके खिलाफ कोई कदम उठाया गया तो वे उस कर्मचारी या अधिकारी का नहीं छोड़ेंगे। यही कारण है कि अधिकारी व कर्मचारी पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण कोई कार्रवाई करने से बच रहे हैं।

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस ने दिखाई सख्ती, 163 लोगों की चालान काटे