बार बार भोपाल के चक्कर काटने के बाद भी समर्थकों को पद नहीं दिलवा पा रहे सिंधिया

ग्वालियर। भाजपा में आने के बाद से ज्योतिरादित्य सिंधिया कुछ थके थके से है। कारण बार-बार उन्हें भोपाल पहुंचना पड़ रहा है समर्थकों का जो दबाब है।
सिंधिया के साथ जो समर्थक विधायक इस्तीफा देकर भाजपा में आये थे अब उनको सत्ता में शामिल होना है जिसके लिए वह लगातार दबाब बना रहे है जिस वजह से सिंधिया को पहली बार भोपाल के हर सप्ताह चक्कर लगाने पड़ रहे है। बार-बार सीएम शिवराज से मिलने का समय मांगना पड़ रहा है और उनके साथ मीटिंग कर रहे है।
सिंधिया का सिर्फ ध्येय अपने समर्थकों को सत्ता में एडजस्ट कराना है। चुनाव हारे मंत्रियों इमरती देवी, गिर्राज दंडोतिया कुछ बड़ा चाहते है। वहीं रणवीर जाटव, रघुराज, मुन्नालाल गोयल भी सत्ता से जुड़ना चाहते है। इन्हीं सबके दबाब तले सिंधिया बार-बार भोपाल पहुंच समर्थकों को एडजस्ट कराने का काम कर रहे है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया