निधि संग्रह महाभियान में महिला नेत्री ने दी एक किलो चांदी बराबर राशि

ग्वालियर। निधि संग्रह महाभियान के सातवें दिन गुरुवार को भी महानगर में टोलियां एवं सामाजिक कार्यकर्ता निकलें। वे आमजन के साथ-साथ प्रबुद्धजनों के यहां पहुंचकर निधि संग्रह का आग्रह किया। इस पुण्य काम के लिए महिलाएं भी बढ़-चढ़कर आगे आ रही हैं। जिसमें भाजपा महिला मोर्चा की मंडल अध्यक्ष अनुराधा शर्मा ने पहले एक किलो चांदी देना चाही किंतु सिर्फ धनराशि एकत्रित की बात आने पर उन्होंने एक किलो चांदी की कीमत बराबर धनराशि समर्पित कर दी।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मध्यभारत प्रांत के कार्यवाह यशवंत इंदापुरकर, प्रांत सह शारीरिक प्रमुख श्याम प्रजापति, प्रांत संपर्क प्रमुख डॉ. जगजीत नामधारी, विभाग संघचालक विजय गुप्ता, अशोक पाठक, नवनीत शर्मा, रवि अग्रवाल, नवल शुक्ला, पूर्व मंत्री माया सिंह सहित अन्य वरिष्ठजनों के मार्गदर्शन में टोलियां प्रबुद्धजनों के यहां पहुंचकर निधि समर्पण किया। इस दौरान पूर्व न्याधीश राकेश सक्सेना एवं डीके पालीवाल, लेफ्टिनेंट जनरल अशोक सिंह सहित कई स्थानों पर आमजन ने धनराशि समर्पित की।
अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा एकत्रित की जा रही है राशि को लेकर आमजन में उत्साह देखा जा रहा है। कार्यकर्ताओं की टोलियां जिन लोगों के बीच नहीं पहुंच पा रहीं वे स्वयं आगे आकर भी सहयोग राशि दे रहे हैं। समुद्र लांघते समय श्रीराम भक्त हनुमान जी ने कहा कि 'राम काज कीन्हें बिनु, मोहि कहां विश्राम। इसी चौपाई की तर्ज पर हर व्यक्ति की यह हार्दिक इच्छा है कि राम मंदिर निर्माण में कहीं न कहीं उसका भी सहयोग हो।
हमसे काय नइ ले रये : राशि एकत्रित कर रहा दल जब एक बस्ती में कुछ घरों से राशि ले रहा था तभी एक बुजुर्ग महिला आई और बोली.. हमसे काय नइ ले रये। दरअसल यह बुजुर्ग महिला इस बस्ती के एक-दो परिवारों में भोजन बनाने आती है और इस प्रकार अपना जीवन यापन करती है। एक घर जहां से निधि संग्रह किया जा रहा था वहां भोजन बनाते समय जब उक्त महिला को ज्ञात हुआ कि विहिप के कार्यकर्ता बस्ती में निधि संग्रह हेतु आए हैं तो वह महिला दौड़ी हुई आई और निधि समर्पण कर बोली कि हमसे काय नइ ले रये। इस आस्थावान महिला ने अपनी साड़ी के पल्लू में बन्धे मुड़े-तुड़े सौ-सौ के दो नोट राम-काज हेतु समर्पित किए।
हर्षवर्धन-यशवर्धन ने तोड़ी गुल्लक : निधि संग्रह करने निकली टोली उस समय दंग रह गई जब तारागंज रोड हनुमान बांध स्थित एक घर में दो छोटे-छोटे भाइयों ने अपनी गुल्लक भगवान श्रीराम के लिए न्यौछावर कर दी। उन्होंने टोली के सामने ही उस गुल्लक को तोड़ दिया जिसमें उन्होंने 3 साल से परिवार के बड़े-बुजुर्गों से मिलने वाली स्नेह राशि जमा की थी। गुल्लक में 10,161 नोट एवं चिल्लर के रूप में निकले। यह दोनों बच्चे हिन्दू जागरण मंच के बेटी बचाओ के प्रांत प्रमुख के हैं। बच्चों का कहना था कि राम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह की प्रेरणा उन्हें दूसरे बच्चों द्वारा दी जा राशि से मिली, जिसे उन्होंने सोशल मीडिया पर देखा था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

500 करोड के कार्यो का भूमिपूजन व विभिन्न लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री