इराक की अदालत ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ जारी किया गिरफ्तारी वॉरंट

वॉशिंगटन। अमेरिकी संसद पर समर्थकों की हिंसा से घिरे डोनाल्ड ट्रंप की मुश्किलें अभी और बढ़ने वाली हैं। एक तरफ अमेरिका के सांसद उनके बचे हुए कार्यकाल के पूरा होने से पहले ही पद से उतारने के लिए लामबंद हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ इराक की अदालत ने भी पिछले साल एक ईरानी जनरल और एक प्रभावशाली इराकी मिलिशिया नेता के मारे जाने के मामले में ट्रंप के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है। बता दें कि ईरान भी इस मामले में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ वॉरंट जारी कर चुका है। इतना ही नहीं, उसने तो बाकायदा इंटरपोल से गिरफ्तारी के लिए मदद भी मांगी है।
इराकी अदालत के मीडिया कार्यालय ने कहा कि अमेरिका के ड्रोन हमले में जनरल कासिम सुलेमानी और अबू माहदी अल मुहंदिस के मारे जाने के मामले में बगदाद की जांच अदालत के न्यायाधीश ने वारंट जारी किया गया है। सुलेमानी और मुहंदिस पिछले साल जनवरी में बगदाद हवाईअड्डे के बाहर ड्रोन हमले में मारे गए थे जिससे अमेरिका और इराक के बीच राजनयिक संकट उत्पन्न हो गया था और दोनों के संबंधों में तल्खी आ गई थी।
ईरान ने अपने शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के एक साल बाद फिर अंतरराष्ट्रीय संस्था इंटरपोल से ट्रंप की गिरफ्तारी के लिए मदद मांगी है। ईरान ने इंटरपोल से आग्रह किया है कि वह ट्रंप समेत 47 अमेरिकी अधिकारियों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करे। ईरान ने इससे पहले जून में भी इंटरपोल से रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की अपील की थी, लेकिन तब उसकी यह अपील खारिज कर दी गई थी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया