आरक्षक से हैड कान्स्टेबल, एएसआई से एसआई को मिलेगा पदनाम

भोपाल. बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारियों से कहा कि कर्मचारियों की पदोन्नति के मामले की सर्व सहमति से हल निकाला । अब इसमें देरी ना होना चाहिए चौहान ने बुधवार को मंत्रालय में विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं दो दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए सभी राज्यों को लंबित अपने कानूनी मुद्दे का लिखित मांगा था शिवराज सरकार कर्मचारियों की नाराजगी को पहले ही भाप लिया था और पिछले महीने ही पदोन्नति का विकल्प तलाशने के लिए प्रशासन अकादमी के महानिदेशक एसपी श्रीवास्तव की अध्यक्षता में समिति गठित कर दी गई थी । समिति ने अपनी रिपोर्ट में पात्रता रखने वाले कर्मचारियों को वरिष्ठ पदनाम देने की सलाह दी थी।
पिछले 5 वर्षों से पदोन्नति की राह देख रहे पुलिसकर्मियों के लिए अच्छी खबर है । आरक्षक से लेकर उप निरीक्षक स्तर तक के पुलिसकर्मियों को मानसेवी पदोन्नति देने का प्रस्ताव प्रदेश सरकार ने मंजूर कर दिया है । जानकारी के मुताबिक फरवरी माह के प्रथम सप्ताह से मानसेवी पदोन्नति पुलिस कर्मियों को दी जाएगी क्रमोन्नति उन्हें पहले से ही मिल चुकी है । इस कारण वेतन पर ज्यादा असर नहीं पडेगा मानसेवी पदोन्नति के बाद आरक्षक से प्रधान आरक्षक बने पुलिसकर्मियों को फिती लगा सकेंगे और उन्हें जांच के अधिकार भी मिलेंगे प्रधान आरक्षक से एएसआई, एएसआई से एसआई, एसआई से इंस्पेक्टर पबने पुलिसकर्मी स्टार बढ़ाकर लगा सकेंगे पदोन्नति वरिष्ठता के आधार पर होगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

500 करोड के कार्यो का भूमिपूजन व विभिन्न लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री