प्रदेश का अगला बजट 'आत्मनिर्भर' होगा : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य का अगला बजट 'आत्मनिर्भर' होगा। उन्होंने कहा कि बजट केवल मुख्यमंत्री, मंत्री और अफसर नहीं बनाएंगे, बल्कि अलग-अलग सेक्टर के विषय विशेषज्ञों और अर्थशास्त्रियों की सलाह पर इसका आर्थिक ढांचा तैयार किया जाएगा। दरअसल, कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश की वित्तीय स्थिति खराब होने के बाद से सरकार का फोकस राज्य में उपलब्ध संसाधनों का बेहतर तरीके से उपयोग करने की है। आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप भी इसको ध्यान में रखकर आगे बढ़ाया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने राजगढ़ प्रवास के दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कह कि कोरोना काल में मप्र सरकार ने सुधार के कई काम किए हैं। केंद्र सरकार ने चार सुधार दिए थे। वन नेशन वन राशन कार्ड हो या फिर शहरी क्षेत्रों के मामले में हो, इसे हमने पूरा कर दिया है। इसका लाभ भी मध्य प्रदेश को मिलेगा। शिवराज सरकार के चौथे कार्यकाल में पहला (वित्तीय वर्ष 2021-22) बजट विधानसभा में पेश करेगी। दरअसल, कमलनाथ सरकार 20 मार्च को सत्ता से बाहर हो गई थी और 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली थी, लेकिन सरकार कोरोना संक्रमण के चलते मौजूदा वित्तीय वर्ष (2020-21) का बजट विधानसभा से पारित नहीं करा पाई थी। सरकार अध्यादेश के जरिए लाए गए 1 लाख 66 करोड़ 74 लाख 81 हजार रुपए के लेखानुदान से खर्च चला रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पलामू के नौसैनिक को चेन्नई से किडनैप किया, पालघर में जिंदा जलाया