फूल तुम्हें भेजा है खत में, फूल नहीं मेरा दिल है...

कायस्थ महापंचायत ग्रेटर ग्वालियर ने मनाई मकर संक्राति, गीत-संगीत सहित अन्य प्रतियोगिताएं हुईं
ग्वालियर।
कायस्थ महापंचायत ग्रेटर ग्वालियर द्वारा मनाए गए संक्राति उत्सव कार्यक्रम में गीत-संगीत, पतंगबाजी सहित कई प्रतियोगिताओं के जरिए समाज के बच्चे और बड़ों ने बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी की। डॉ.जितेंद्र सक्सेना और सारिका श्रीवास्तव द्वारा संयुक्त रूप से गाये गाने फूल तुम्हें भेजा खत में, फूल नहीं मेरा दिल है... ने खूब तालियां बटोरी। इस गाने के साथ-साथ कई लोगों ने प्रतिभागियों का न सिर्फ साथ दिया बल्कि डांस भी किया। इसके साथ ही पलभर के लिए कोई हमें प्यार कर ले... सहित कई अन्य गानों पर प्रस्तुति देकर प्रतिभागियों ने अपनी सुमधुर आवाज का जलबा बिखेरा। 
कायस्थ महापंचायत के महासचिव वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि कायस्थ महापंचायत ग्रेटर ग्वालियर हर वर्ष संक्राति उत्सव मनाती है। इसी कड़ी में आज सागर ताल के पास हनुमान मंदिर में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में समाज के सैकड़ों लोगों ने भागीदारी की। इसमें चेयररेस, नीबू रेस, वाद-विवाद सहित कई अन्य कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर पंचायत के अभय चौधरी जीडीए के पूर्व अध्यक्ष, राजेंद्र श्रीवास्तव, केएन श्रीवास्तव, वैभव श्रीवास्तव, डॉ.जितेंद्र सक्सेना, शैलेष श्रीवास्तव, अशोक निगम, राकेश श्रीवास्तव, टीएस सक्सेना, राजेश्वर राव, संतोष श्रीवास्तव, अवधेश श्रीवास्तव, आकाश श्रीवास्तव, आशीष जौहरी, रवि श्रीवास्तव, आशीष श्रीवास्तव, नंद कुमार श्रीवास्तव, अजय प्रकाश श्रीवास्तव, रामसेवक श्रीवास्तव महिला विंग की अध्यक्ष दुर्गेश श्रीवास्तव, सारिका श्रीवास्तव, पूजा श्रीवास्तव, रन्नो श्रीवास्तव, अर्चना श्रीवास्त, रचना श्रीवास्तव, शिखा श्रीवास्तव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे। 

पतंगबाजी में जमकर लड़ाए पेंच
संक्राति उत्सव का सबको आकर्षण  का केंद्र पतंगाबाजी रही। इसमें बच्चों के साथ बड़ों ने भी जमकर लुत्फ उठाया। इसमें कई लोगों ने एक-दूसरे के साथ पतंग के पेंच लड़ाते हुए पतंगें काटी। जिसकी भी पतंग कटती थी तो तालियों की गड़गड़ाहट से समारोज स्थल गूंजने लगता था।

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारत में अब तक 82 लोगों में ब्रिटेन वाले कोरोना वायरस के नए स्वरूप की पुष्टि