राज्यमंत्री श्री परमार ने शिक्षकों के लिए स्व-प्रबंधन, तनाव प्रबंधन और समय प्रबंधन के वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स का ऑनलाइन लोकार्पण किया

भोपाल। समय प्रबंधन और तनाव प्रबंधन के साथ स्व-प्रबंधन कर हमारे शिक्षक ना सिर्फ अपने शैक्षणिक दायित्वों का प्रभावी ढंग से निर्वहन कर सकेंगे बल्कि यह उनके व्यक्तिगत जीवन के लिए भी उपयोगी होंगा। यह बात स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री इन्दर सिंह परमार ने मंत्रालय में शिक्षकों के लिए स्व-प्रबंधन, तनाव प्रबंधन और समय प्रबंधन के वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स के ऑनलाइन लोकार्पण के दौरान कही। ये वीडियो मॉड्यूल स्कूल शिक्षा विभाग ने आईआईएम इंदौर के सहयोग से तैयार किए हैं। इनमे विजुअल के माध्यम से सरल और रोचक तरीके से तनाव को दूर करने के दार्शनिक विचार व्यायाम और अन्य उपयोगी बातें बताई गई है। यह मॉड्यूल्स स्कूल शिक्षा विभाग के ऑनलाइन DIKSHA प्लेटफॉर्म पर अपलोड किए जायेंगे। श्री परमार ने कहा कि कोरोना के कारण देश भर में तनाव का माहौल था। शिक्षक वर्ग भी इसे से अछूता नहीं रहा। उनके मानसिक तनाव को दूर करने, उनमें नेतृत्व के गुणों को विकसित करने और उनकी कार्यकुशलता बढ़ाने के लिए यह वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स तैयार किए गए है। हमारे समाज में छात्र अपनें शिक्षक से सीखते है और उसका अनुसरण करते है। समयबद्ध और तनाव रहित शिक्षक ना सिर्फ अपने शिक्षण कार्य को अधिक कार्यकुशलता से कर सकेंगे बल्कि स्कूली छात्रों से श्रेष्ठ नागरिकों का निर्माण भी करेंगे। नागरिकों से ही श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम शिक्षकों के साथ-साथ स्कूली बच्चों, अभिभावकों और अन्य सभी नागरिकों के लिए लाभकारी हैं।
ऑनलाइन वेबिनार कार्यक्रम को प्रदेशभर के शिक्षकों और छात्रों ने यू-ट्यूब के माध्यम से लाइव देखा। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरुण शमी, आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत, आयुक्त राज्य शिक्षा केंद्र श्री धनराजू एस, आईआईएम इंदौर के डायरेक्टर श्री हिमांशु राय सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

 

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भारत में अब तक 82 लोगों में ब्रिटेन वाले कोरोना वायरस के नए स्वरूप की पुष्टि